Top
Home > राज्य > पश्चिम बंगाल > कूच बिहार की घटना पर पश्चिम बंगाल की राजनीति में घमासान: ममता, मोदी के बीच जुबानी जंग

कूच बिहार की घटना पर पश्चिम बंगाल की राजनीति में घमासान: ममता, मोदी के बीच जुबानी जंग

कूच बिहार की घटना पर पश्चिम बंगाल की राजनीति में घमासान: ममता, मोदी के बीच जुबानी जंग
X

कोलकाता: पश्चिम बंगाल (West Bengal) में कूच बिहार के सीतलकूची में सीआईएसएफ की गोलीबारी में चार लोगों की मौत के मामले में राजनीतिक घमासान शुरू हो गया है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) ने दावा किया है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (HM Amit Shah) ने घटना की साजिश रची और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को इसकी ''पूरी जानकारी'' थी. राज्य में प्रचार के दौरान मोदी ने घटना को लोगों को उनके मताधिकार के इस्तेमाल से रोककर धांधली करने की बनर्जी की साजिश का परिणाम बताया है.

एक दिन पहले पश्चिम बंगाल भाजपा प्रमुख यह कह कर विवादों में घिर गए थे कि कूच बिहार जैसी हत्याएं होंगी. विवाद को आगे बढ़ाते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता राहुल सिन्हा ने कहा कि अगर केंद्रीय बलों को ठीक लगा तो वे धांधली के प्रयास को नाकाम करने के लिए चार से ज्यादा लोगों को मारेंगे.

दार्जिलिंग में प्रचार करने वाले केंद्रीय मंत्री शाह ने कहा कि अगर लोग चाहेंगे तो उन्होंने अपना त्यागपत्र जेब में तैयार रखा है.

ममता ने लगाए ये आरोप

बनर्जी ने नदिया जिले के राणाघाट में जनसभा में कहा, ''अमित शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पूरी जानकारी में कूच बिहार की हत्या की साजिश रची.'' तृणमूल कांग्रेस ने दावा किया है कि मारे गए लोग सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के समर्थक थे.

बर्द्धमान, कल्याणी और बारासात में रैलियां करने वाले प्रधानमंत्री मोदी ने भी पलटवार किया.

मोदी ने कहा, ''पिछले 10 साल में ममता बनर्जी ने 'छप्पा वोट' (धांधली) के जरिए अनुसूचित जातियों, गरीबों और वंचित समूहों के अधिकारों के हनन की साजिश की.''

प्रधानमंत्री ने किया पलटवार

प्रधानमंत्री ने नदिया जिले में एक रैली में कहा, ''कूच बिहार में जो हुआ वह इसी साजिश, दीदी के 'छप्पा वोट' के लिए मास्टरप्लान का नतीजा है. हार और जीत लोकतंत्र का हिस्सा है, लेकिन आपको लोगों के वोट के अधिकार को छीनने की अनुमति नहीं है.''

उत्तर 24 परगना के हाबड़ा इलाके में मौजूद राहुल सिन्हा ने आरोप लगाया कि बनर्जी से संरक्षण प्राप्त कुछ बदमाशों ने भाजपा के निर्दोष समर्थकों पर गोलीबारी की और सीआईएसएफ की गोलीबारी का बचाव किया.

सिन्हा ने कहा, ''केंद्रीय बल धांधली रोकने के अपने प्रयासों के तहत जरूरी हो तो चार से ज्यादा सात या आठ लोगों को मार सकते हैं.''

इसके बाद तृणमूल सुप्रीमो बनर्जी ने कहा, ''कुछ नेता सीतलकूची जैसी और घटनाओं की चेतावनी दे रहे हैं जबकि कुछ नेता कह रहे हैं कि मृतकों की संख्या ज्यादा होनी चाहिए. मैं इस तरह की प्रतिक्रिया देखकर स्तब्ध और हैरान हूं. नेताओं को क्या हो गया है.''

—भाषा

Updated : 13 April 2021 5:23 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top