Top
Home > खेल > क्रिकेट > अश्विन, इशांत और बुमराह की घातक गेंदबाजी, ऑस्ट्रेलिया 191/7

अश्विन, इशांत और बुमराह की घातक गेंदबाजी, ऑस्ट्रेलिया 191/7

अश्विन, इशांत और बुमराह की घातक गेंदबाजी, ऑस्ट्रेलिया 191/7
X

ऐडिलेड: पहले क्रिकेट टेस्ट मैच के दूसरे दिन भारतीय गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए एक बार फिर भारत को मैच में वापसी करायी है। रविचंद्रन अश्विन, इशांत शर्मा और जसप्रीत बुमराह की शानदार गेंदबाजी की सहायता से भारतीय टीम ने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने के समय तक 191 रनों के अंदर ही मेजबान टीम के सात खिलाड़ियों को पेवेलयन भेज दिया था। इस प्रकार मेजबान टीम भारत के पहली पारी के 250 रनों के मुकाबले अभी भी 59 रन पीछे है। ऑस्ट्रेलिया की ओर से ट्रेविस हेड ने सबसे ज्यादा नाबाद 61 रन बनाए। अश्विन ने तीन और इशांत व बुमराह ने दो-दो विकेट लिए।
भारत की पहली पारी के 250 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलियाई पारी की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही। दिन के पहले ही ओवर में इशांत शर्मा ने अनुभव बल्लेबाज आरोन फिंच को बोल्ड कर दिया। इसके बाद मार्कस हैरिस और उस्मान ख्वाजा ने ऑस्ट्रेलियाई पारी को संभालने का प्रयास किया। इन दोनो ने स्कोर बढ़ाना जारी रखा। अश्विन ने हैरिस को मुरली विजय के हाथों कैच कराकर इस जोड़ी को तोड़ा। हैरिस ने तब तक 26 रन बनाये थे।
इसके बाद अश्विन ने खराब फार्म से गुजर रहे शॉन मार्श को अपना शिकार बनाया। अश्विन की गेंद पर मार्श ने बड़ा ड्राइव खेलने का प्रयास किया पर गेंद बल्ले का अंदरूनी किनारा लेते हुए लेग स्टंप से टकरा गई।
इसके बाद अश्विन ने ख्वाजा को पेवेलियन भेजकर मेजबाना टीम को करार झटका दिया। ख्वाजा ने 125 गेंदों में 28 रन बनाए थ्रे। यह अश्विन का सबसे अच्छा विकेट रहा। ख्वाजा के खिलाफ विकेट के पीछे कैच की अपील अंपायर ने ठुकरा दी पर विकेटकीपर ऋषभ पंत और गेंदबाज अश्विन ने डीआरएस मांग लिया जिसपर तीसरे अंपायर ने ख्वाजा को आउट करार दिया।
इसी के साथ अश्विन ने एक और अहम उपलब्धि हासिल कर ली। ख्वाज अश्विन के 179वें बाएं हाथ के शिकार रहे। टेस्ट क्रिकेट में सिर्फ मुरलीधरन ने ही उनसे ज्यादा 191 बाएं हाथ के बल्लेबाजों को पेवेलियन भेजा है। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया में अश्विन का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था।
ख्वाजा के आउट होने के बाद ट्रेविस हेड और पीटर हैंड्सकॉम्ब ने अपनी टीम को संभालने का प्रयास किया। दोनों ने 33 रन ही जोड़े थे कि तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की गेंद पर हैंड्सकॉम्ब को 34 रनों के निजी स्कोर पर विकेट कीपर ऋषभ ने लपक लिया। इस प्रकार आधी मेजबानी टीम पेवेलियन पहुंच गयी।
ऑस्ट्रेलिया टीम के कप्तान टिम पेन भी नकाम रहे। फिंच को बोल्ड करने वाले इशांत ने कप्तान पेन को भी कोई मौका नहीं दिया और उन्हें ऋषभ के हाथों कैच कराकर वापस पविलियन भेज दिया। इस तरह 127 के स्कोर पर ऑस्ट्रेलियाई टीम अपने छह विकेट गंवा चुकी थी।
पैट कमिंस 10 ने ट्रैविस हेड के साथ मिलकर 50 रन की साझेदारी तो कर ली लेकिन बुमराह ने उन्हें पेवेलियन भेज दिया। इसी बीच हेड ने अपना अर्धशतक पूरा कर लिया।
इससे पहले दूसरे दिन भारत की पारी पहले ही गेंद पर समाप्त हो गयी। अंतिम बल्लेबाज मोहम्मद शमी को जोश हेजलवुड ने पहली ही गेंद पर आउट कर दिया। इस प्रकार दूसरे दिन भारतीय टीम एक भी रन नहीं बना पायी। भारत की ओर से चेतेश्वर पुजारा ने 123 रनों की शानदार पारी खेली। वहीं ऑस्ट्रेलिया की ओर से हेजलवुड ने तीन और मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस व नाथन लायन ने दो-दो विकेट लिए।

Updated : 7 Dec 2018 8:22 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top