Top
Home > खेल > क्रिकेट > बार्डर-गावस्कर ट्राफी पर भारत की बादशाहत

बार्डर-गावस्कर ट्राफी पर भारत की बादशाहत

बार्डर-गावस्कर ट्राफी पर भारत की बादशाहत
X

धर्मशाला : विश्व की नंबर एक टीम भारत ने अपनी बादशाहत कायम रखते हुये आस्ट्रेलिया का घमंड चौथे और अंतिम टेस्ट में साढ़े तीन दिन के अंदर ही चकनाचूर कर मंगलवार को आठ विकेट की जीत के साथ बार्डर-गावस्कर ट्राफी पर 2-1 से कब्जा कर लिया। भारत के सामने मात्र 106 रन का मामूली लक्ष्य था और उसने बिना कोई विकेट खोए 19 रन से आगे खेलते हुये 23.5 ओवर में दो विकेट पर 106 रन बनाकर हासिल कर लिया। लोकेश राहुल (नाबाद 51) और कार्यवाहक कप्तान अजिंक्या रहाणे (नाबाद 38) ने शानदार बल्लेबाजी करते हुये चौथे दिन सुबह के सत्र में ही मैच समाप्त कर दिया। विश्व की नंबर एक टीम भारत ने इस तरह पहला टेस्ट गंवाने के बाद गज़ब की वापसी करते हुये 2-1 से सीरीज अपने नाम की। भारत के टेस्ट इतिहास में यह चौथा मौका है जब भारतीय टीम ने पहला मैच हारने के बाद टेस्ट सीरीज अपने नाम की है। इससे पहले भारत ने 1972-73 में इंग्लैंड के खिलाफ, 2000-01 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ अौर 2015 में श्रीलंका के खिलाफ एक टेस्ट से पिछड़ने के बाद जीत हासिल की थी। मैच में बल्ले और गेंद से करिश्माई प्रदर्शन करने वाले ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा को मैन आफ द मैच के साथ साथ मैन आफ द सीरीज का पुरस्कार दिया गया। इसी सीरीज के दौरान विश्व के नंबर एक टेस्ट गेंदबाज बने जडेजा ने दोनों पारियों में कुल चार विकेट और भारत की पहली पारी में 63 रन की शानदार पारी खेली थी जिसकी बदौलत भारत को 32 रन की अहम बढ़त हासिल हुई थी। जडेजा ने सीरीज में कुल 127 रन बनाये और सर्वाधिक 25 विकेट हासिल किये। -वार्ता

Updated : 28 March 2017 6:22 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top