Top
Home > खेल > क्रिकेट > सीरीज जीतकर ऑस्ट्रेलिया ने किया हिसाब बराबर

सीरीज जीतकर ऑस्ट्रेलिया ने किया हिसाब बराबर

सीरीज जीतकर ऑस्ट्रेलिया ने किया हिसाब बराबर
X

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया ने दिल्ली के फिरोज शाह कोटला मैदान पर 5वें और आखरी वनडे में भारत को 35 रनों से हरा कर हिसाब बराबर कर लिया । मेहमान टीम ने पहले बैटिंग करते हुए निर्धारित 50 ओवरों में 9 विकेट पर 272 रनों का स्कोर खड़ा किया। जवाब में भारतीय टीम निरंतर अंतराल पर विकेट गंवाती रही और सभी विकेट खोकर 237 रन ही बना सकी। इस तरह उसे कप्तान विराट कोहली के होम ग्राउंड पर 35 रनों की हार के साथ ही सीरीज भी गंवानी पड़ी। सीरीज के पहले दो मुकाबले भारत ने जीते थे, जबकि ऑस्ट्रेलियाई टीम ने जबरदस्त वापसी करते हुए लगातार 3 मैच जीतते हुए सीरीज पर 3-2 से कब्जा जमा लिया।

273 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत खराब रही। उसे शिखर धवन के रूप में 5वें ओवर में पहला झटका लगा। शिखर को 12 रनों के निजी स्कोर पर पैट कमिंस ने एलेक्स कैरी के हाथों कैच कराया। स्कोर 50 रन के पार पहुंचा ही था कि विराट कोहली स्टोइनिस की एक बाहर निकलती गेंद को छेड़ बैठे। गेंद सीधे विकेटकीपर कैरी के दस्ताने में जा समाई। कप्तान कोहली 22 गेंदों में 20 रन बनाकर आउट हुए। कप्तान के आउट होने के बाद एक बड़ी साझेदारी की जरूरत थी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। ऋषभ पंत अच्छी शुरुआत करने के बाद 16 रन बनाकर नाथन लियोन की गेंद पर आउट हो गए तो विजय शंकर (18) को एडम जाम्पा ने उस्मान ख्वाजा के हाथों कैच आउट कराकर पविलियन भेजा। अब भारत का स्कोर 120 पर 4 विकेट हो गया। रोहित शर्मा ने वनडे करियर के 8000 रन पूरे किए। वह विराट कोहली (175 पारी), एबी डि विलियर्स (182 पारी) के बाद सौरभ गांगुली (200 पारी) के साथ संयुक्त रूप से तीसरे सबसे तेज 8000 वनडे रन बनाने वाले बल्लेबाज बने।

रोहित शर्मा 29वें ओवर में एडम जाम्पा को बड़ी हिट लगाने के लिए आगे निकल आए, लेकिन बल्ला उनके हाथ से छूट गया। कैरी ने स्टंपिंग करने में देर नहीं लगाई। रोहित ने 89 गेंदों में 4 चौके की मदद से 56 रनों की पारी खेली।

रोहित शर्मा और रविंद्र जडेजा के एक ही ओवर में आउट होने के बाद भारतीय टीम जबरदस्त दबाव में आ गई। पिच पर नए बल्लेबाज भुवनेश्वर कुमार और केदार जाधव थे। 43वें ओवर में भारत के 200 रन पूरे हुए। हालांकि, भुवी 46वें ओवर की आखिरी गेंद पर पैट कमिंस को बड़ी हिट लगाने के चक्कर में फिंच के हाथों लपक लिए गए। उन्होंने शानदार बैटिंग करते हुए 54 गेंदों में 3 चौके और 2 छक्के की मदद से 46 रनों की पारी खेली। भुवी और केदार के बीच 7वें विकेट के लिए 91 रनों की साझेदारी हुई, जो भारतीय पारी की सबसे बड़ी थी।

अगले ही ओवर में केदार जाधव (44) भी चलते बने। उन्हें जे. रिचर्डसन की गेंद पर मैक्सवेल ने कैच किया। इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम को मैच जीतने में कोई दिक्कत नहीं हुई। मेहमान टीम के लिए एडम जाम्पा ने 3 विकेट झटके, जबकि पैट कमिंस, जे. रिचर्डसन और मार्कस स्टोइनिस ने दो-दो विकेट अपने नाम किए।

इससे पहले उस्मान ख्वाजा के सीरीज में दूसरे शतक की मदद से ऑस्ट्रेलिया ने 9 विकेट पर 272 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया। ख्वाजा ने 106 गेंदों पर दस चौकों और दो छक्कों की मदद से 102 रन बनाए। उन्होंने कप्तान आरोन फिंच (43 गेंदों पर 27 रन) के साथ पहले विकेट के लिए 76 और पीटर हैंड्सकांब (60 गेंदों पर 52 रन) के साथ दूसरे विकेट के लिए 99 रन की दो उपयोगी साझेदारियां की। ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी दस ओवर में 70 रन बनाए, लेकिन इस बीच पांच विकेट भी गंवाए। जब 14 ओवर के बाद स्कोर बिना किसी नुकसान के 73 रन था तब पांचवें गेंदबाज के रूप में जडेजा ने गेंद संभाली और उनकी तीसरी गेंद ही फिंच के बल्ले को चूमकर विकेटों में समा गयी। ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों ने चारों छक्के कुलदीप पर लगाए। ख्वाजा ने इस चाइनामैन स्पिनर पर लॉन्ग ऑन पर दो गगनचुंगी छक्के जड़े।

एक ओर जहां कुलदीप खर्चीले साबित हो रहे थे तो दूसरी ओर अपने पहले चार ओवर में केवल आठ रन देने वाले बुमराह ने कसी हुई गेंदबाजी जारी रखी। बुमराह ने दबाव बनाया तो भुवनेश्वर और जडेजा ने उसे भुनाया। ख्वाजा ने 102 गेंदों पर शतक पूरा किया, लेकिन इसी स्कोर पर भुवनेश्वर की गेंद पर कवर में कैच दे बैठे। कोहली ने ही अगले ओवर में ग्लेन मैक्सवेल (एक) का एक्स्ट्रा कवर पर कैच लेकर दर्शकों में जोश भरा। शमी अपना तीसरा स्पैल करने के लिए आए। उनकी तेजी से उठती गेंद को हैंडसकॉम्ब नहीं समझ पाए, जो उनके बल्ले को चूमकर विकेट के पीछे गई और इस बार पंत ने कोई गलती नहीं की। हैंड्सकांब ने इससे पहले वनडे में अपना चौथा अर्धशतक पूरा किया।

भारत की तरफ से जसप्रीत बुमराह (10 ओवर में 39 रन, कोई विकेट नहीं) और रविंद्र जडेजा (10 ओवर में 45 रन देकर दो विकेट) ने अधिक प्रभावित किया। भुवनेश्वर कुमार (10 ओवर में 48 रन देकर तीन विकेट) सबसे सफल गेंदबाज रहे, शमी (9 ओवर में 57 रन देकर दो विकेट) ने टुकड़ों में अच्छी गेंदबाजी की, लेकिन कुलदीप यादव (10 ओवर में 74 रन एक विकेट) ने निराश किया।


Updated : 13 March 2019 7:41 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top