Top
Home > खेल > क्रिकेट > चौथे एकदिवसीय में जीत के साथ ही अजेय बढ़त बनाने उतरेगी टीम इंडिया

चौथे एकदिवसीय में जीत के साथ ही अजेय बढ़त बनाने उतरेगी टीम इंडिया

चौथे एकदिवसीय में जीत के साथ ही अजेय बढ़त बनाने उतरेगी टीम इंडिया
X

दोपहर ड़ेढ बजे से शुरु होगा मैच, केदार करेंगे वापसी
मुंबई: भारतीय टीम सोमवार को यहां होने वाले चौथे एकदिवसीय में एक बार फिर जीत की लय हासिल करना चाहेगी। पहले एकदिवसीय में जीत के बाद जहां दूसरा एकदिवसीय टाई रहा, वहीं तीसरे मैच में मेहमान टीम वेस्टइंडीज ने भारत को हराकर दिखा दिया की उसकी युवा टीम को अब कम न आकें। ऐसे में इस मैच को जीत कर भारतीय टीम सीरीज में अजेय बढ़त बनाने के इरादे से उतरेगी हालांकि इसके लिए उसे एकजुट होकर बेहतरीन प्रदर्शन करना होगा क्योंकि दूसरे ओर तीसरे एकदिवसीय मैच में लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय बल्लेबाजी की कमजोरी सामने आ गयी हैं। इन दोनो ही मैच में कप्तान विराट कोहली ने शतक लगाया पर फिर भी भारतीय टीम जीत दर्ज नहीं कर पायी। इसका कारण निचले क्रम का असफल होना रहा। ऐसे में अब बाकि बचे हुए दोनो मैचों को जीतकर भारतीय टीम सीरीज अपने नाम करना चाहेगी। एकदिवसीय सीरीज में भारतीय गेंदबाजी में भी पहले वाली धार नजर नहीं आ पाई और मेहमान वेस्टइंडीज के बल्लेबाज रन बनाने में सफल रहे जबकि इसके पहले टेस्ट सीरीज में इंडीज बल्लेबाजी लचर नजर आयी थी। मध्यक्रम के प्रदर्शन में निरंतरता की कमी और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के रन नहीं बना पाने से भारत को नुकसान हुआ है।
पुणे में अंबाती रायुडू (22) लय में आने में सफल रहे थे पर उन्हें लगातार अच्छा प्रदर्शन करना होगा। पिछले मैच में पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने आक्रामक रुख दिखाया है लेकिन अपनी पहली एकदिवसीय सीरीज में अब उन्हें बड़ी पारी खेलनी होगी। निचले क्रम की बल्लेबाजी को पक्का करने के लिए केदार जाघव को अंतिम दो मैचों के लिए शामिल किया गया है। केदार हाल ही मैं फिट हुए हैं। बल्लेबाजी के साथ ही वह वैकल्पिक गेंदबाज के रुप में भी उपयोगी साबित हो सकते हैं। जाधव अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के अलावा ऑफ स्पिन गेंदबाजी के लिए जाने जाते हैं।
वहीं सलामी बल्लेबाज शिखर धवन और रोहित शर्मा से भी टीम को अच्छी शुरुआत की उम्मीदें हैं। कप्तान विराट कोहली ने इस सीरीज में अबतक लगातार तीन शतक लगाये हैं और वह आगे भी यह सिलसिला जारी रखना चाहेंगे। वहीं गेंदबाजी में तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह का प्रदर्शन ठीक है पर भुवनेश्वर कुमार को डेथ ओवरों में कम रन देने होंगे। जहां तक स्पिनरों की बात है युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव पर मेहमान बल्लेबाजों पर अंकुश लगाने की जिम्मेदारी होगी।
वहीं दूसरी ओर जिस प्रकार वेस्ट इंडीज ने इस सीरीज में वापसी की है इसके लिए उसकी तारीफ करनी होगी। यह इसलिए भी अहम है कि उसके युवा खिलाड़ी मैच जिताउ प्रदर्शन कर रहे हैं जबकि अनुभव खिलाड़ी उम्मीद के अनुसार नहीं खेल पाये हैं।
वेस्ट इंडीज की सबसे बड़ी उम्मीद विकेटकीपर बल्लेबाज शाई होप हैं जिन्होंने विशाखापत्तनम में 123 और पुणे में 95 रन की दो अहम पारियां खेली। इसके साथ ही शिमरोन हेटमायेर से भी अच्छे स्कोर की उम्मीद रहेगी। पुणे मैच से पहले बाएं हाथ के बल्लेबाज हेटमायेर ने 106 और 94 रन की पारियां खेली थी। टीम को इसके अलावा कीरोन पावेल, चंद्रपॉल हेमराज और रोवमैन पावेल जैसे खिलाड़ी बदलावा ला सकते हैं। अनुभवी मार्लन सैमुअल्स ने तीसरे एकदिवसीय में गेंद से अच्छा प्रदर्शन किया और तीन विकेट लिए लेकिन उनका बल्ला अब तक खामोश है। कप्तान जेसन होल्डर भी अपनी क्षमताओं के अनुसार नहीं खेल पाये हैं। पुणे में अच्छे प्रदर्शन के बाद तेज गेंदबाज ओबेद मैकाय और आफ स्पिनर एश्ले नर्स इस मैच में अपनी टीम को जीत दिलाना चाहेंगे। इस मैच में दोनो टीम के बीच कड़ी टक्कर की उम्मीदें हैं।
दोनो टीमें इस प्रकार हैं:
भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, अंबाती रायुडू, ऋषभ पंत, महेंद्र सिंह धोनी, रविंद्र जडेजा, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, खलील अहमद, उमेश यादव, लोकेश राहुल, मनीष पांडे और केदार जाधव।
वेस्ट इंडीज: जेसन होल्डर (कप्तान), फाबियान एलेन, सुनील अंबरीश, देवेंद्र बिशू, चंद्रपाल हेमराज, शिमरोन हेटमायेर, शाई होप, अल्जारी जोसेफ, एविन लुईस, एश्ले नर्स, कीमो पाल, रोवमैन पावेल, केमार रोच और मार्लन सैमुअल्स।

Updated : 28 Oct 2018 3:53 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top