Top
Home > खेल > क्रिकेट > वेस्टइंडीज के खिलाफ जीत के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया

वेस्टइंडीज के खिलाफ जीत के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया

वेस्टइंडीज के खिलाफ जीत के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया
X

राजकोट: भारत और वेस्टइंडीज के बीच गुरुवार से यहां दो टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला क्रिकेट टेस्ट मैच खेला जाएगा। भारतीय टीम अपनी धरती पर अनुभवहीन वेस्टइंडीज को हराकर मनोबल बढ़ाने के साथ ही अपनी नंबर एक टेस्ट रैंकिंग भी बरकरार रखना चाहेगी। भारतीय टीम को इस साल दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज में हार का सामना करना पड़ा। ऐसे में भारतीय टीम अब इस सीरीज में जीत के साथ ही नवंबर में होने वाले आस्ट्रेलिया दौरे से पहले लय हासिल करना चाहेगी।
भारतीय टीम प्रबंधन इस सीरीज में युवा खिलाड़ियों को अवसर दे रहा है ताकि अनुभवी खिलाड़ियों को आस्ट्रेलिया दौरे से पहले आराम दिया जा सके। युवाओं को उतरने से नई प्रतिभाओं के सामने आने के साथ ही टीम संयोजन भी बेहतर हो सकेगा। आस्ट्रेलिया में भारत को ऐसी टीम चाहिये जिसमें युवाओं के साथ ही अनुभवी खिलाड़ी भी हों जो हर हाल में ढ़ल सकें। भारतीय टीम का पलड़ा इसलिए भारी है क्योंकि मेहमान वेस्टइंडीज की टीम अनुभवहीन होने के साथ ही बल्लेबाजी और गेंदबाजी में बेहद कमजोर है। वहीं भारतीय टीम की बल्लेबाजी के साथ ही गेंदबाजी भी काफी अच्छी है।
नंबर एक स्थान पक्का करने उतरेगा भारत
भारतीय टीम वेस्ट इंडीज के खिलाफ सीरीज 2-0 की जीत के साथ ही आईसीसी रैंकिंग में अपना नंबर एक स्थान और पक्का करना चाहेगी। मेहमान वेस्टइंडीज टीम 2002 के बाद से आज तक भारत से नहीं जीती है। जहां तक भारतीय धरती का सवाल है इंडीज टीम ने 1994 के बाद से ही कोई मैच नहीं जीता है।
भारतीय टीम टेस्ट सीरीज में यह तय करना चाहेगी कि वह कोई अंक नहीं गंवाए। भारतीय टीम अंक तालिका में 115 अंक के साथ शीर्ष पर चल रही है, लेकिन अगर वह सीरीज 2-0 से भी जीत लेती है तो भी उसे एक ही अंक का फायदा होगा, क्योंकि दोनों टीमों के बीच रेटिंग अंक का बड़ा अंतर है। वहीं दूसरी तरफ, अगर भारत को 0-2 की हार का सामना करना पड़ता है तो उसके 108 अंक रह जाएंगे और अगर ऑस्ट्रेलिया पाकिस्तान को 2-0 से हरा देता है तो फिर उसे पीछे छोड़ देगा। दूसरी और वेस्टइंडीज की टीम हालांकि अगर 2-0 से सीरीज जीत भी जाती है तो भी पाकिस्तान और श्रीलंका से अपने अंकों के अंतर को ही कम कर पाएगी, लेकिन आठवें स्थान पर ही बनी रहेगी।
इंग्लैंड दौरे में सलामी जोड़ी की असफलता से परेशान भारतीय टीम इस मैच में नई जोड़ी के साथ उतरेगी।
केएल राहुल युवा खिलाड़ी पृथ्वी शॉ के साथ मिलकर पारी की शुरुआत करेंगे। वहीं गेंदबाजी में भारत तीन स्पिनरों आर अश्विन, रविंद्र जडेजा और कुलदीप यादव के साथ उतर सकता है।
तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार को आराम देने के साथ ही इशांत शर्मा के चोटिल होने के बाद उमेश यादव और मोहम्मद शमी तेज गेंदबाजी आक्रमण संभालेंगे। वहीं हार्दिक पंड्या की गैरमौजूदगी में जडेजा ऑलराउंडर की भूमिका निभाएंगे।
वहीं विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत पर भी निगाह टिकी रहेगी, ऋषभ ने ओवल में 114 रन की पारी खेलकर टीम में अपनी जगह सुरक्षित रखी है। ओवल में अपने पदार्पण पर 56 रन बनाने वाले हनुमा विहारी को अंतिम एकादश में जगह मिलना संभव नजर नहीं आता क्योंकि टीम पांच विशेषज्ञ गेंदबाजों को उतारना चाहती है। भारत की यह सबसे दमदार टीम नहीं है, लेकिन तब भी वह अनुभवहीन वेस्ट इंडीज पर दबदबा बनाने में सक्षम है।
वेस्ट इंडीज के केवल पांच खिलाड़ियों को ही भारत में टेस्ट खेलने का अनुभव है इसमें तेज गेंदबाज केमार रोच भी शामिल हैं पर रोच परिवार में एक सदस्य की मौत के कारण स्वदेश लौट गये हैं और पहला टेस्ट नहीं खेल पायेंगे। ऐसे में इंडीज टीम को एक करारा झटका लगा है। जिन अन्य खिलाड़ियों को भारत में टेस्ट खेलने का अनुभव है उनमें देवेंद्र बिशू, क्रेग ब्रेथवेट, पावेल और शेनोन गैब्रियल शामिल हैं।
कोच स्टुअर्ट लॉ की वेस्टइंडीज इसके बाद भी भारत को टक्कर दे सकती है। उसने पिछले साल इंग्लैंड को लीड्स में हराया था। ऐसे में भारतीय टीम पूरी गंभीरता से उतरेगी।
भारत : विराट कोहली (कप्तान), केएल राहुल, पृथ्वी शॉ, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत, आर अश्विन, रविंद्र जडेजा, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, शार्दुल ठाकुर।
वेस्ट इंडीज: जेसन होल्डर (कप्तान), सुनील अंबरीश, देवेंद्र बिशू, क्रेग ब्रैथवेट, रोस्टन चेज, शेन डोविच, शैनन गैब्रियल, जहमार हैमिल्टन, शिमरान हेटमायर, शाई होप, शेरमेन लुईस, केमो पॉल, पॉवेल, केमार रोच, जोमेल वार्रिकैन।

Updated : 3 Oct 2018 9:01 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top