Top
Home > खेल > क्रिकेट > टेस्ट में पदार्पण से पहले काफी व्याकुल थे हनुमा विहारी, कोच द्रविड़ से बात कर मिली शांति

टेस्ट में पदार्पण से पहले काफी व्याकुल थे हनुमा विहारी, कोच द्रविड़ से बात कर मिली शांति

टेस्ट में पदार्पण से पहले काफी व्याकुल थे हनुमा विहारी, कोच द्रविड़ से बात कर मिली शांति
X

लंदन: नवोदित क्रिकेटर हनुमा विहारी टेस्ट मैच में पदार्पण से पहले काफी व्याकुल रहे लेकिन पूर्व क्रिकेटर और इंडिया ए के कोच राहुल द्रविड़ से फोन पर बात करके उन्हें राहत मिली और वह इंग्लैंड के खिलाफ अर्धशतक बनाकर भारत को संकट से निकाल सके। विहारी ने पहली पारी में 56 रन बनाए और रविंद्र जडेजा (नाबाद 86) के साथ 77 रन की साझेदारी की। भारत ने पहली पारी में 292 रन बनाए, जबकि इंग्लैंड ने रविवार को तीसरे दिन 154 रन की बढ़त हासिल थी।

विहारी ने कहा, मैने टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण से पहले उनसे बात की। उन्होंने कुछ मिनट मुझसे बात की, जिससे मेरी बेचैनी मिट गई। वह महान क्रिकेटर हैं और बल्लेबाजी में उनकी सलाह से मुझे काफी मदद मिली। द्रविड़ ने हनुमा से कहा, तुम्हारे पास काबिलियत है, मानसिक दृढ़ता है और जज्बा है। सिर्फ मैदान पर जाकर इसका इस्तेमाल करना है। हनुमा ने अपने बेहतर खिलाड़ी बनने का श्रेय भी द्रविड़ को दिया। भारत ए के साथ अपने सफर को वह काफी अहम मानते हैं। विहारी ने कहा कि जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड को खेलते हुए वह नर्वस थे। उन्होंने कहा, शुरूआत में मुझे दबाव महसूस हुआ लेकिन एक बार जमने के बाद मैं नर्वस नहीं था। वे विश्व स्तरीय गेंदबाज हैं और मिलकर 990 विकेट ले चुके हैं। मैं सकारात्मक सोच के साथ खेलना चाहता था। खासकर जब विराट क्रीज पर होते हैं तो सिर्फ स्ट्राइक रोटेट करके साझेदारी बनानी होती है। उन्होंने विराट कोहली की तारीफ करते हुए कहा, दूसरे छोर पर विराट के होने से मेरा काम आसान हो गया।

Updated : 10 Sep 2018 12:05 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top