Top
Home > खेल > विराट, रोहित को भी अभ्यास की कमी से निपटना होगा: वेंगसरकर

विराट, रोहित को भी अभ्यास की कमी से निपटना होगा: वेंगसरकर

विराट, रोहित को भी अभ्यास की कमी से निपटना होगा: वेंगसरकर
X

मुंबई: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान दिलीप वेंगसरकर ने कहा है कि अभ्यास की कमी शीर्ष खिलाड़ियों के लिए भी भारी पड़ती है। इसलिए यह नहीं समझना चाहिये कि भारतीय टीम के कप्तान कोहली को इससे निपटना नहीं पड़ेगा। वेंगसरकर ने कहा कि कोहली और रोहित बहुत अच्छी लय में हैं पर प्रतिस्पर्धी मैचों की कमी के कारण दौरे की शुरुआत में डब्ल्यूटीसी फाइनल में उनका प्रदर्शन भी प्रभावित हो सकता है। वेंगसरकर ने कहा, '' वह (कोहली) लंबे समय से टीम के साथ है और अभी दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक है। कोहली और रोहित विश्वस्तरीय खिलाड़ी है और उन्हें अपने प्रदर्शन और भारत की जीत पर गर्व होता होगा।'' इस पूर्व बल्लेबाज ने कहा कहा, '' अच्छी बात यह है कि दोनों शानदार लय में है। मुझे लगता है कि मैच अभ्यास की कमी उनके प्रदर्शन को प्रभावित कर सकती हैं। मुझे लगता है कि कम से कम दौरे के शुरुआती टेस्ट में ऐसा हो सकता है।''

वहीं उनका मानना है कि कीवी टीम को इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैचों से मिले अभ्यास का लाभ मिलेगा

वेंगसरकर ने कहा, '' टीम इंडिया एक बेहतर टीम है और शानदार लय में है। न्यूजीलैंड के साथ फायदे की बात यह है कि उनकी टीम ज्यादा सुर्खियों में नहीं रहती है और विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल से पहले उन्हें दो टेस्ट मैच खेलने को मिल रहे हैं।'' इससे उन्हें खिताबी मुकाबले में हालात के अनुसार ढ़लने में सहायता मिलेगी। इस पूर्व कप्तान ने कहा, '' मैं मानता हूं कि भारतीय टीम को इस टेस्ट (डब्ल्यूटीसी फाइनल) से पहले दो-तीन मैच खेलने चाहिये थे ताकि परिस्थितियों के मुताबिक अपने को ढाल सकें।''

उन्होंने कहा कि बल्लेबाजों की तरह गेंदबाजों को भी मैच अभ्यास की जरूरत है। वेंगसरकर ने कहा, '' बल्लेबाजों के साथ-साथ गेंदबाजों के लिए भी मैच खेलने और मैदान में समय बिताने की सलाह दी जाती है। आप भले ही नेट अभ्यास करते हो और मैच की परिस्थितियों के बारे में जानते हो लेकिन मैदान पर मैच खेल खेलने से मिला अभ्यास अलग होता है।''

—ईएमएस

Updated : 7 Jun 2021 11:36 AM GMT
Next Story
Share it
Top