नई दिल्ली: विश्व स्वास्थ्य संगठन ने विश्वभर में मंकीपॉक्स के बढ़ते मामलों को देखते हुए ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी का ऐलान किया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मामले में हो रहे इजाफे को देखते हुए आम लोगों से सतर्क रहने की भी अपील की है। कुछ दिन पहले भारत के करेल में भी मंकीपॉक्स का पहला मामला सामने आया था। उस दौरान केंद्र सरकार द्वारा कहा गया था कि जिस शख्स में मंकीपॉक्स के लक्षण मिले थे वो कुछ दिन पहले ही यूएई की यात्रा करके लौटा था। इस मामले के ठीक बाद केरल में ही इस वायरस का दूसरा मामला भी सामने आया था। 

बता दें कि केरल में मंकीपॉक्स का दूसरा मरीज मिलने के बाद के केंद्र सरकार पूरी तरह से सतर्क हो गई थी। केंद्र ने एयरपोर्ट-बंदरगाहों पर कड़ी स्क्रीनिंग का दिया निर्देश दिया था, जिससे वक्त रहने मंकीपॉक्स के मरीजों की पहचान कर उनका इलाज किया जा सके। साथ ही इनसे दूसरों में होने वाली बीमारी को रोका जा सके। वहीं केरल के स्वास्थ्य विभाग ने राज्य के सभी पांच हवाई अड्डों पर निगरानी बढ़ा दी थी। दुनिया के 27 देशों में अभी तक मंकीपॉक्स के केस मिल चुके हैं। भारत में अभी तक मंकीपॉक्स के दो केस मिल चुके हैं।मंकीपॉक्स के पहले मामले की पुष्टि होने पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों की सहायता के लिए पिछले सप्ताह केरल में एक उच्च स्तरीय बहु-अनुशासनात्मक टीम भेजी थी। 



Related news