नई दिल्ली: वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी ) पर भारतीय सेना और भारत तिब्बत सीमा पुलिस कई संयुक्त सैन्य अभ्यास कर रहे हैं। इससे दोनों बलों के बीच संयुक्तता और एकीकरण को बढ़ावा मिलेगा। सूत्रों के मुताबिक, लद्दाख से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक भारतीय सुरक्षा बल युद्ध की तैयारियों को बढ़ाने के लिए अभ्यास कर रहे हैं। हाल ही में भारतीय सेना और आईटीबीपी ने चीन के साथ उत्तराखंड सीमा पर सक्रियता बढ़ाने के लिए केंद्रीय क्षेत्र के कोडनेम 'आईबीईएक्स' में एक संयुक्त अभ्यास किया था।

सरकारी सूत्रों का कहना है कि जिस समय चीन के साथ अप्रैल-मई 2020 में एलएसी पर विवाद हुआ था। उसके बाद उस समय बनाई गई सड़क निर्माण की योजना के मुताबिक, सड़क निर्माण पर काम हो रहा है और इसके लिए जरूरी अनुमति ले ली गई है। सूत्रों के मुताबिक, दौलत बेग ओल्डी क्षेत्र में दुरबुक-श्योक-डीबीओ सड़क के माध्यम से पहुंचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि नुब्रा घाटी पश्चिमी तरफ है और इसमें एयरबेस भी है, जिस पर अब सियाचिन ग्लेशियर क्षेत्र में संचालन सहित पूर्वी और पश्चिमी दोनों क्षेत्रों को सहायता प्रदान करने के लिए मुकदमा चलाया जा रहा है। 




Related news