पोर्ट ऑफ स्पेन: शिखर धवन की कप्तानी में युवा खिलाड़ियों से भरी भारतीय क्रिकेट टीम शुक्रवार को यहां तीन एकदिवसीय मैचों की सीरीज के पहले मैच में मेजबान वेस्टइंडीज टीम पर जीत के इरादे से उतरेगी। इस मैच में भारतीय टीम के युवा तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह पदार्पण के लिए तैयार हैं। अर्शदीप ने आईपीएल में शानदार प्रदर्शन किया था। इसके बाद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में भी उनका प्रदर्शन अच्छा रहा था। आंकड़ों पर नजर डालें तो भारतीय टीम इस मैच में जीत की प्रबल दावेदार है। भारतीय टीम यहां पिछले एक दशक से अजेय बनी हुई है। अब तक देखा जाये तो इस मैदान पर दोनों टीमों के बीच 16 एकदिवसीय मुकाबले हुए हैं जिसमें भारतीय टीम ने आठ जबकि वेस्टइंडीज ने सात जीते हैं। 

इस सीरीज में रोहित शर्मा , जसप्रीत बुमराह, ऋषभ पंत सहित कई अनुभवी खिलाड़ियों के नहीं होने से युवा खिलाड़ियों के पास अपनी प्रतिभा दिखाने का अच्छा अवसर रहेगा। शुभमन गिल की टीम में वापसी हुई है। वह धवन के साथ पारी की शुरुआत कर सकते हैं। शुभमन के अलावा युवा ईशान किशन और ऋतुराज गायकवाड़ को भी पारी की शुरुआत का अवसर मिल सकता है। 

मध्यक्रम में दीपक हुडा और सूर्यकुमार यादव को जगह मिलना तय है। हाल में इन दोनो खिलाड़ियों का प्रदर्शन शानदार रहा है। श्रेयस अय्यर और संजू सैमसन में से किसे अवसर मिलता है यह देखना होगा। अय्यर इंग्लैंड दौरे में शॉर्ट पिच गेंदों के सामने विफल रहे थे। ऐसे में अगर उन्हें जगह मिलती है तो उनपर बड़े स्कोर का दबाव रहेगा। ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या के नहीं होने के कारण शार्दुल ठाकुर को टीम में जगह मिल सकती है। इस पिच से स्पिनरों को मदद मिलने की उम्मीद है। ऐसे में स्पिनर युजवेंद्र चहल और रविन्द्र जडेजा को अवसर मिलना तय है। अक्षर पटेल भी एक अच्छे विकल्प हैं। तीसरे स्पिनर के रूप में विकल्प हैं। तेज गेंदबाज के तौर पर अर्शदीप के अलावा प्रसिद्ध कृष्णा और मोहम्मद सिराज को अंतिम एकादश में जगह मिलेगी। 

वहीं दूसरी ओर कप्तान निकोलस पूरन की वेस्टइंडीज टीम भी इस सीरीज में बेहतर प्रदर्शन कर हार का सिलसिला तोड़ना चाहेगी। उसे लगातर तीन सीरीज में ऑस्ट्रेलिया , बांग्लादेश और आयरलैंड से हार का सामना करना पड़ा है। ऐसे में इस सीरीज में उसकी नजरें वापसी कर रहे ऑलराउंडर जेसन होल्डर पर टिकी रहेंगी। मेजबान टीम को जीत दर्ज करनी है तो उसे बल्लेबाजी के साथ ही गेंदबाजी में भी सुधार करना होगा। पिछले कुछ समय के अंदर उसे बल्लेबाज निर्धारित ओवर तक भी नहीं खेल पाये हैं। वहीं गेंदबाज भी विरोधी बल्लेबाजों पर अंकुश लगाने में असफल रहे हैं। 

दोनों ही टीमें इस इस प्रकार हैं:

भारत: शिखर धवन (कप्तान), ऋतुराज गायकवाड़, शुभमन गिल, दीपक हुडा, सूर्यकुमार यादव, श्रेयस अय्यर, ईशान किशन (विकेटकीपर), संजू सैमसन (विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा (उप-कप्तान), शार्दुल ठाकुर, युजवेंद्र चहल, अक्षर पटेल, आवेश खान, प्रसिद्ध कृष्णा, मोहम्मद सिराज और अर्शदीप सिंह.

वेस्टइंडीज: निकोलस पूरन (कप्तान), शाई होप (उप-कप्तान), शेमराह ब्रूक्स, कीसी कार्टी, जेसन होल्डर, अकील हुसैन, अल्जारी जोसेफ, ब्रैंडन किंग, काइल मेयर्स, गुडकेश मोती, कीमो पॉल, रोवमैन पॉवेल और जेडन सील्स।



Related news