काशीपुर (दैनिक हाक): भारतीय प्रबंध संस्थान काशीपुर का 9 वां दीक्षांत समारोह धूमधाम के साथ संपन्न हुआ। इस अवसर पर प्रधानमंत्री के आर्थिक सलाहकार संजीव सान्याल ने कहा कि भारतीय प्रबंध संस्थान के छात्र का

भारत के विकास में अहम योगदान रहता है। उन्होंने कहा कि भारतीय प्रबंध संस्थान के छात्रों ने भारत ही नहीं बल्कि दुनियाभर के देशों में औद्योगिक विकास, सामाजिक क्षेत्र एवं नवाचार के क्षेत्र में अपनी प्रतिभा का परिचय दिया है। श्री सान्याल ने कहा कि भारत जैसे विभिन्न विविधताओं वाले देश में आईआईएम के छात्र अपने ज्ञान एवं अनुसंधान के माध्यम से नए-नए सोपान गढ़ रहे है जिससे देश में आर्थिक संपन्नता एव नई पेशेवर तकनीकी को अपनाने में मदद मिल रही है। उन्होंने इस अवसर पर संस्थान के प्रतिभाशाली छात्रों को स्वर्ण पदक देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर आईआईएम काशीपुर के बोर्ड ऑफ गवर्नंस के अध्यक्ष डॉक्टर संजीव सिंह ने कहा कि भारतीय प्रबंध संस्थान के छात्र बेहद कठिन प्रशिक्षण, व्यापक अध्ययन एवं प्रबंधन की नई प्रणालियों से सीख लेकर भारत के सामवेशी विकास में अपनी भूमिका अदा करेंगे। Mr. Sandeep Singh ने कहा कि सरकार व्दारा घोषित नई स्टार्ट-अप नीति से आईआईएम के छात्र देश में विविध स्टार्ट-अप को बढ़ावा दे रहे है जिससे कृषि, उद्योग, निवेश, ई-कॉमर्स और संस्थागत विकास जैसे विचारशील क्षेत्रों को व्यापक लाभ पहुंच रहा है। भारत जैसे विकासशील देश में बदलते सामाजिक, आर्थिक एवं नवाचार क्षेत्र में भारतीय प्रबंध संस्थान के छात्र निरंतर अपना योगदान दे रहे है। भारतीय प्रबंध संस्थान को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाने के लिए आईआईएम के शोधकर्ताओं का बहुत योगदान है। प्रशिक्षण एवं अनुसंधान के साथ बेहतर रणनीति बना कर आईआईएम भारत के सामवेशी विकास में अपनी भूमिका अदा कर रहा है। खासतौर पर डेटा आधारित विश्लेषिकी प्रबंधन की मांग भारत सहित सारी दुनिया में बढ़ रही है जिसे आईआईएम के छात्र पूरा करते हैं। दीक्षांत समारोह में छात्रों को संबोधित करते हुए डॉक्टर संजीव सिंह ने कहा कि पिछले माह आईआईएम काशीपुर में एमबीए एनालिटिक्स के पहले बैच को शुरू किया गया था जिसे देशभर में जबरदस्त प्रतिक्रिया प्राप्त हुई है। उन्होंने कहा कि हमारे संस्थान के पहले बैच में 95 छात्र शामिल हुए थे जिसमें छात्रों को विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों में काम करने का औसतन 9 साल का अनुभव है। आईआईएम काशीपुर में मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन, मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एनालिटिक्स) ईएमबीए और डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी जैसे उत्कृष्ट अकादमिक कोर्स का संचालन किया जा रहा है। इस वर्ष संस्थान में दो वर्षीय पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम इन मैनेजमेंट, टू ईयर पोस्ट ग्रजुएट प्रोग्राम इन बिजनेस एनालिटिक्स, पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम इन मैनेजमेंट फॉर एग्जीक्यूटिव्स और डॉक्टरेट ऑफ प्रोग्राम इन मैनेजमेंट के कोर्स में 374 छात्र पास हुए। अंकुर तुलस्यान को एमबीए में सर्वश्रेष्ट प्रदर्शन के लिए स्वर्ण पदक प्रदान किया गया। जबकि नेहा सक्सेना को एमबीए कोहोर्ट में रजत पदक एवं वरुण भार्गव को कांस्ट पदक से सम्मानित किया गया। एमबीए एनालिटिक्स में रोशन कुमार बिस्वाल और साक्षी पोद्दार को स्वर्ण पदक से सम्मानित किया गया। देश में राष्टीय महत्व का यह संस्थान विभिन्न पेशेवर पाठ्यक्रमों का संचालन करता है।



Related news