हरिद्वार (दैनिक हाक): कनखल थाना क्षेत्र में करीब डेढ़ साल पहले मकान बेचने के नाम पर पांच लाख की धोखाधड़ी करने वाले फरार चल रहे बाप व दो बेटों को पुलिस ने गाजियाबाद से गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों को हरिद्वार लाकर पूछताछ करने के बाद मेडिकल के बाद कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया। कनखल थाना प्रभारी निरीक्षक मुकेश सिंह चौहान ने बताया कि केशवपुरम हरिगिरी आश्रम रोड निवासी विजय गर्ग पुत्र प्रदीप गर्ग ने 11 फरवरी 2021 को वीर सिंह पुत्र गिरिवर सिंह, दीपक ठाकुर व गौरव ठाकुर पुत्रगण वीर सिंह निवासीगण भागरथी कॉलोनी राधा स्वामी सत्संग भवन लक्सर रोड निवासी मिस्सरपुर कनखल के खिलाफ धोखाधड़ी व अमानत में खयानत का मुकदमा दर्ज कराया था। पीड़ित ने तहरीर में लिखा था कि उसे मकान बेचने के नाम पर 5 लाख रुपए एडवांस के रूप में ले लिए फिर बाद में मकान बेचने से मना कर दिया। मकान खरीदने के लिए एडवांस के रूप में दी गई 5 लाख की रकम वापस मांगी तो व कुछ दिन तक तो टालमटोल करते रहे, लेकिन इसी बीच उक्त लोग मकान को किसी अन्य को बेच कर फरार हो गए। मुकदमा दर्ज होने के बाद फरार हुए बाप व बेटों की तलाश में पुलिस टीम लगातार उनके ठिकानों पर दबिश दे रही थी। मामले की विवेचना कर रहे वरिष्ठ उप निरीक्षक अभिनव शर्मा को मुखबिर से सूचना मिली की धोखाधड़ी में फरार चल रहे आरोपी बाप बेटे आजकल गाजियाबाद के एक गांव में रह रहे हैं। इसी सूचना के आधार पर विवेचना अधिकारी टीम के साथ गाजियाबाद के गांव करहेड़ा मोहन नगर में जाकर दबिश देकर आरोपी बाप वीर सिंह व बेटे गौरव ठाकुर और दीपक ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया। हरिद्वार लाकर पूछताछ करने पर आरोपियो ने खुलासा किया कि वह लगभग डेढ़ साल पहले मिस्सरपुर से फरार होने के बाद अलग-अलग शहरों में नाम बदलकर रह रहे थे। आरोपियों से पूछताछ करने के बाद उनको मेडिकल कराने के बाद कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया। 




Related news