बर्लिन: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को यूरोप के तीन देशों की यात्रा के पहले चरण में जर्मनी पहुंचे। जर्मनी के बर्लिन शहर में प्रवासी भारतीयों ने प्रधानमंत्री मोदी का गर्मजोशी से स्वागत किया। प्रधानमंत्री सोमवार को जर्मनी के चांसलर ओलाफ शॉल्ज के साथ द्विपक्षीय बैठक करने तथा भारत-जर्मनी अंतर सरकारी विचार विमर्श कार्यक्रम की सह अध्यक्षता करने वाले है। 

बर्लिन पहुंचे पीएम मोदी के इंतजार में प्रवासी भारतीय पहले से ही स्वागत के लिए खड़े थे। जैसे पीएम पहुंचे सभी ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया। इस दौरान प्रधानमंत्री सभी का हालचाल पूछते नजर आए। उन्होंने कई बच्चों के साथ भी बातचीत की। वीडियो में देखा जा सकता है कि एक बच्ची अपने हाथ में पीएम मोदी का स्केच लेकर खड़ी थी। पीएम ने उस बच्ची के साथ फोटो खिंचावकर उस स्केच पर ऑटोग्राफ भी दिया। लोग पीएम के साथ सेल्फी लेने को बेकरार दिखाई दिए। इस दौरान लोग वंदे मातरम के नारे लगाते नजर आए। भारतीय समुदाय के एक सदस्य ने कहा, हम पीएम मोदी की एक झलक पाने के लिए उत्साहित थे। हम 400 किमी की दूरी तय करके बर्लिन आए। उन्होंने भारतीय मूल के हम सभी का सम्मानपूर्वक अभिनंदन किया। इसके अलावा, हम प्रवासी भारतीयों को प्रधानमंत्री के संबोधन में भाग लेने के लिए उत्सुक हैं।" 

इससे पहले मोदी ने यहां पहुंचने पर ट्वीट किया, बर्लिन पहुंच गया। आज मैं चांसलर ओलाफ शॉल्ज से बातचीत करूंगा, कारोबारी दिग्गजों से मुलाकात करूंगा और समुदाय के एक कार्यक्रम में हिस्सा लूंगा। मुझे पूरा विश्वास है कि इस यात्रा से भारत और जर्मनी के बीच मित्रता प्रगाढ़ होगी।’’

मोदी और ओलाफ छठे भारत-जर्मनी अंतर सरकारी विचार विमर्श (आईजीसी) बैठक की सह अध्यक्षता करने वाले हैं। रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बर्लिन की उनकी यात्रा चांसलर शॉल्ज से बातचीत का अवसर प्रदान करेगी, जिनसे उन्होंने पिछले वर्ष जी20 में मुलाकात की थी। 





Related news