तेहरान: दुनिया के सबसे गंदे आदमी की 94 साल की उम्र में मौत हो गई है। ज्यादातर एकांत में रहने वाला यह शख्स दशकों में पहली बार नहाया तो इसके कुछ माह बाद ही उसकी मौत हो गई। अमौ हाजी नाम के इस व्यक्ति ने करीब 50 साल से अधिक समय से पानी और साबुन का इस्तेमाल नहीं किया था। उसे डर था कि यह उसे बीमार कर देगा। ईरान का यह शख्स देश के दक्षिणी प्रांत फारस में रहता था। 

स्थानीय ग्रामीणों ने कई बार उसे साफ करने का प्रयास किया लेकिन उसने इनकार कर दिया। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, अमौ हाजी आखिरकार दबाव में आ गया और कुछ महीने पहले उसने नहा लिया। हाजी को 'दुनिया के सबसे गंदे शख्स' के रूप में जाना जाता था।

नहाने के कुछ दिन बाद ही वह बीमार हो गया और रविवार को उसकी मौत हो गई। सन 2014 में एक इंटरव्यू में हाजी ने बताया था कि उसका पसंदीदा खाना पॉर्क्यूपाइन है और वह एक गड्ढे में ईंटों की बनाई झोपड़ी में रहता था। खबरों के मुताबिक कई साल से न नहाने की वजह से हाजी की त्वचा काली पड़ गई थी। उसके आहार में सिर्फ सड़ा हुआ मांस और गंदा पानी शामिल था।

कई पुरानी तस्वीरों में वह सिगरेट पीते नजर आता है। एक तस्वीर में हाजी 4 सिगरेट एक साथ पीते दिखाई दे रहा है। नहाने के प्रयासों या पीने के लिए साफ पानी देने पर वह उदास हो जाता था। सबसे लंबे समय तक न नहाने का रेकॉर्ड हाजी के नाम था, लेकिन कुछ लोग इस पर सवाल उठाते हैं। दावा किया जाता है कि सन 2009 में एक भारतीय शख्स को ब्रश किए और नहाए हुए 35 साल हो गए थे। हालांकि इसके बाद उसके साथ क्या हुआ स्पष्ट नहीं है। खबरों के मुताबिक अपनी युवावस्था में कई 'असफलताओं' का सामना करने के बाद हाजी ने इस तरह का जीवन जीने का फैसला किया। 

वह हमेशा एक वॉर हेलमेट पहने रखते थे ताकि वह सर्दी से खुद को बचा सकें। उन्हें ध्रूमपान की बहुत बुरी लत थी। अक्सर वह जंग लगे पाइप के टुकड़ों में जानवरों का मल भरकर उससे ध्रूमपान करते थे। वह कहते भी थे कि नहाने से वह बीमार पड़ सकते हैं।





Related news