नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम ने ओपनर शुभमन गिल और शिखर धवन की शतकीय साझेदारी और फिर गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत आखिरी गेंद तक खिंचे बेहद रोमांचक पहले एक दिवसीय मुकाबले में वेस्टइंडीज को तीन रनों से हरा दिया। कप्तान शिखर धवन बहुत अच्छा खेले, लेकिन वह अपना शतक पूरा नहीं कर सके। 

97 रन के स्कोर पर गुडकेश मोती की गेंद पर शामराह ब्रूक्स ने उनका कैच लपक लिया। शतक से चूकने के बाद धवन ने कहा कि वह इससे बेहद निराश हैं। मैन ऑफ द मैच चुने गए शिखर धवन ने कहा मैं शतक पूरा नहीं कर पाने से निराश हूं। टीम के अन्य साथियों ने अच्छा योगदान दिया। इस वजह से हम आखिर में अच्छा स्कोर बनाने में सफल रहे। अंतिम समय में घबराहट हो रही थी, क्योंकि मैच के इस मोड़ पर पहुंचने की उम्मीद नहीं की थी। 

शुभमन गिल के 64 और कप्तान धवन के 97 रन की मदद से भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 7 विकेट पर 308 रन बनाए। जवाब में निकोलस पूरन एंड कंपनी ने 50 ओवर में 6 विकेट पर 305 रन बनाए। आखिरी ओवर में उसे जीत के लिए 15 रन की जरूरत थी, लेकिन कैरेबियाई टीम तीन रन से चूक गई।

शिखर धवन ने कहा हमने अंत तक अपना धैर्य बनाए रखा और नतीजा सामने है। हमने अपने फाइन लेग को पीछे किया, जिसका हमें फायदा मिला। हमारी बात यही हुई थी कि जितना संभव हो सके, हम बड़ी बाउंड्री का उपयोग करें। हम सीखते रहना चाहते हैं और टूर्नामेंट के बाकी मैचों में खुद को बेहतर बनाना चाहते हैं। पहला विकेट 16 रन पर गिरने के बाद वेस्टइंडीज के लिए शामराह ब्रूक्स और काइल मायर्स ने 117 रन की साझेदारी की। 

दिसंबर 2020 के बाद पहला वनडे खेल रहे गिल ने 52 गेंद में 64 रन बनाए, जबकि धवन ने 99 गेंद में 97 रन की पारी खेली। विंडीज की ओर से काइल मायर्स ने 68 गेंद में 75 और ब्रूक्स ने 61 गेंद में 48 रन बनाए। तेज गेंदबाज शार्दूल ठाकुर ने दोनों को पवेलियन भेजकर वेस्टइंडीज की राह मुश्किल कर दी। ब्रेंडन किंग ने 54 रन की पारी खेली, लेकिन कप्तान निकोलस पूरन 25 रन ही बना सके। छह विकेट 252 रन पर गिरने के बाद सातवें विकेट की अटूट साझेदारी में अकील हुसैन (32) और रोमारियो शेफर्ड (38) 53 रन जोड़े लेकिन टीम को जीत तक नहीं ले जा सके। भारत के लिए मोहम्मद सिराज, ठाकुर और युजवेंद्र चहल ने दो दो विकेट लिए।




Related news