त्रिनिदाद: भारत ने पांच मैचों की टी-20 सीरीज के पहले मुकाबले में वेस्टइंडीज को 68 रन से हरा दिया है। इस जीत के साथ टीम इंडिया ने सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली है। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने 20 ओवर में छह विकेट गंवाकर 190 रन बनाए। रोहित शर्मा ने 64 रन की पारी खेली। वहीं, दिनेश कार्तिक 19 गेंदों में 41 रन बनाकर नाबाद रहे। उन्हें इस पारी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच भी चुना गया।

जवाब में वेस्टइंडीज की टीम 20 ओवर में आठ विकेट पर 122 रन ही बना सकी। वेस्टइंडीज की ओर से सबसे ज्यादा रन शामराह ब्रूक्स ने बनाए। उन्होंने 20 रन की पारी खेली। भारत की ओर से अर्शदीप सिंह, रविचंद्रन अश्विन और रवि बिश्नोई ने घातक गेंदबाजी की। तीनों ने दो-दो विकेट झटके। सीरीज का अगला मैच सोमवार (एक अगस्त) को सेंट किट्स के वार्नर पार्क में खेला जाएगा।


पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम की सधी हुई शुरुआत रही। भारतीय टीम मैनेजमेंट ने इस मैच में प्रयोग करते हुए रोहित के साथ सूर्यकुमार यादव को ओपनिंग भेजा। सूर्यकुमार 16 गेंदों में तीन चौके और एक छक्के की मदद से 24 रन बनाकर आउट हुए। उन्हें अकील हुसैन ने जेसन होल्डर के हाथों कैच कराया। इसके बाद श्रेयस अय्यर फ्लॉप रहे। उन्हें ओबेड मैकॉय ने अकील के हाथों कैच कराया। श्रेयस खाता भी नहीं खोल सके। 

ऋषभ पंत ने कप्तान रोहित के साथ तीसरे विकेट के लिए 43 रन की साझेदारी निभाई। पंत 12 गेंदों में 14 रन बनाकर आउट हुए। उन्हें कीमो पॉल ने कैच आउट कराया। हार्दिक पांड्या फ्लॉप रहे। वह एक रन बनाकर अल्जारी जोसेफ की गेंद पर आउट हुए। इस बीच कप्तान रोहित ने टी-20 अंतरराष्ट्रीय में 27वां अर्धशतक पूरा किया। वे 44 गेंदों में सात चौके और दो छक्के की मदद से 64 रन बनाकर आउट हुए।


रवींद्र जडेजा 16 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद दिनेश कार्तिक और रविचंद्रन अश्विन ने मिलकर भारत को 190 के स्कोर तक पहुंचाया। कार्तिक और अश्विन ने मिलकर सातवें विकेट के लिए नाबाद 52 रन की साझेदारी निभाई। कार्तिक ने 19 गेंदों की अपनी पारी में चार चौके और दो छक्के लगाए। वहीं, अश्विन 10 गेंदों में 13 रन बनाकर नाबाद रहे।  


191 रन के बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी वेस्टइंडीज टीम को तेज शुरुआत तो मिली, लेकिन वे इसे जारी नहीं रख सके। पहले आठ गेंदों पर विंडीज के ओपनर्स ने 22 रन जुटा लिए थे। इसके बाद पारी के दूसरे ओवर की तीसरी गेंद पर अर्शदीप सिंह ने कायल मेयर्स को भुवनेश्वर कुमार के हाथों कैच कराया। मेयर्स छह गेंदों में 15 रन बना सके। इसके बाद रवींद्र जडेजा ने जेसन होल्डर को क्लीन बोल्ड किया। होल्डर खाता भी नहीं खोल सके।


इसके बाद भुवनेश्वर कुमार ने अच्छी बल्लेबाजी कर रहे शामराह ब्रूक्स को क्लीन बोल्ड किया। ब्रूक्स 15 गेंदों में 20 रन बनाकर आउट हुए। कप्तान निकोलस पूरन और रोवमन पॉवेल ने पारी संभालने की कोशिश की, लेकिन रविचंद्रन अश्विन ने ऐसा होने नहीं दिया। अश्विन ने पूरन को विकेटकीपर पंत के हाथों कैच कराया। पूरन 15 गेंदों में 18 रन बना सके। युजवेंद्र चहल को सीरीज में आराम दिया गया है। 


चहल की जगह सीरीज के लिए टीम में शामिल किए गए युवा लेग स्पिनर रवि बिश्नोई ने जलवा बिखेरा। मैच की अपनी पहली ही गेंद पर बिश्नोई ने रोवमन पॉवेल को क्लीन बोल्ड किया। पॉवेल 17 गेंदों में 14 रन बना सके। 86 के स्कोर पर वेस्टइंडीज को छठा झटका लगा। रविचंद्रन अश्विन ने घातक गेंदबाजी करते हुए मैच में अपना दूसरा विकेट झटका। उन्होंने शिमरोन हेटमायर को सूर्यकुमार यादव के हाथों कैच कराया। हेटमायर 15 गेंदों में 14 रन बना सके।


अश्विन ने मैच में चार ओवर के अपने कोटे में 22 रन देकर दो विकेट झटके। 86 के ही स्कोर पर वेस्टइंडीज को सातवां झटका लगा। रवि बिश्नोई ने ओडियन स्मिथ को विकेटकीपर पंत के हाथों स्टंप आउट कराया। स्मिथ खाता भी नहीं खोल सके। अकील हुसैन को अर्शदीप सिंह ने शानदार यॉर्कर पर क्लीन बोल्ड किया। वह 11 रन ही बना सके। आखिर में कीमो पॉल 22 गेंदों में 19 रन और अल्जारी जोसेफ पांच रन बनाकर नाबाद रहे। विंडीज टीम 122 रन ही बना सकी। भारत की ओर से अर्शदीप, अश्विन और बिश्नोई के अलावा रवींद्र जडेजा और भुवनेश्वर कुमार ने एक-एक विकेट लिया।



Related news