श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में शनिवार को आतंकवादियों ने एक पुलिसकर्मी को निशाना बनाते हुए गोलीबारी की जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल कांस्टेबल को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक, ‘श्रीनगर के सफाकदाल इलाके में आइवा ब्रिज के पास आतंकवादियों ने शनिवार सुबह 8:40 बजे के करीब कांस्टेबल गुलाम हसन पर गोली चलाई। इस हमले में गुलाम हसन गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें इलाह के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इलाके की घेराबंदी करके हमलावरों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।’

इससे पहले सुरक्षा बलों ने दक्षिण कश्मीर में शुक्रवार को हुए मुठभेड़ में 3 आतंकवादियों को ढेर कर दिया। इनमें हिजबुल मुजाहिदीन का एक शीर्ष आतंकवादी कमांडर भी शामिल था। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बताया कि मोहम्मद अशरफ खान उर्फ ​​अशरफ मौलवी, घाटी के सबसे पुराने जीवित आतंकवादियों में से एक था। दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग के कोकरनाग के निवासी, अशरफ खान का नाम पिछले साल जम्मू-कश्मीर पुलिस द्वारा जारी 10 मोस्ट वांटेड आतंकवादी कमांडरों की सूची में था। उसे पुलिस रिकॉर्ड में ए डबल प्लस आतंकवादी के रूप में वर्गीकृत किया गया था। वह नौ साल से घाटी में सक्रिय था।

वहीं, जम्मू-कश्मीर के बडगाम जिले में सुरक्षा बलों ने शुक्रवार को अंसार गजवत-उल-हिंद (एजीयूएच) संगठन के आतंकवादियों के 2 सहयोगियों को गिरफ्तार किया। पुलिस के प्रवक्ता ने बताया, ‘बडगाम पुलिस ने सेना और सीआरपीएफ के साथ मध्य कश्मीर के बडगाम के हुरू इलाके में प्रतिबंधित आतंकी संगठन एजीयूएच के आतंकवादियों के 2 सहयोगियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान डांगेरपोरा रजवान निवासी आमिर मंजूर बुडू और गांदरबल के पुट्टरमुल्ला सफापोरा निवासी शाहिद रसूल गनी के रूप में हुई है। उनके पास से एक हथगोला और एके-47 के 25 कारतूस सहित आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई है।’

सुरक्षा बलों का कहना है कि कश्मीर घाटी में अलग-अलग मठभेड़ों में इस साल अब तक 62 आतंकवादियों को मार गिराया गया है। इनमें 15 विदेशी आतंकवादी थे। कश्मीर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) विजय कुमार के मुताबिक मारे गए 62 आतंकवादियों में से 39 लश्कर-ए-तैयबा (एल-ई-टी) के थे, जबकि 15 जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) से जुड़े हुए थे। इसके अलावा हिजबुल मुजाहिदीन के 6 और अल बद्र के 2 आतंकावादियों को भी मार गिराया गया है। जम्मू-कश्मीर में इस समय पाकिस्तान स्थित मुख्य आतंकवादी समूहों में लश्कर, जैश और हिजबुल मुजाहिदीन सक्रिय हैं। पुलिस का दावा है कि पिछले कुछ वर्षों में सुरक्षा बलों ने इन आतंकवादी समूहों के अधिकांश शीर्ष नेतृत्व को मार गिराया है।




Related news