कोल्लम/तिरुवनंतपुरम: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर हमले जारी रखते हुए आरोप लगाया कि वे देश में हिंसा, नफरत तथा गुस्सा फैला रहे हैं जो श्री नारायण गुरु जैसे प्रख्यात समाज सुधारकों की शिक्षा के विपरीत है।


कांग्रेस की ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ के तहत बुधवार को केरल दौरे के चौथे दिन शाम को यात्रा राज्य के कोल्लम जिले में पहुंची और उसने 150 किलोमीटर की दूरी पूरी की।


गांधी ने इस अवसर पर कहा कि श्री नारायण गुरु, अय्यनकली और चत्ताम्पी स्वामीकल जैसे समाज सुधारकों ने हिंसा, नफरत या गुस्से की शिक्षा नहीं दी थी। उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि भाजपा और संघ की विचारधारा नफरत और गुस्से की है जो देश को बांट रही है और कमजोर कर रही है।’’

राज्य के वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने कोल्लम में पल्लीमुक्कू जंक्शन के पास बड़ी संख्या में जमा हुए लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘वे (भाजपा और संघ) एक दूसरे के विचारों के लिए सम्मान, सहिष्णुता, अपने विरोधियों के प्रति स्नेह तथा अहिंसा की भारत की सबसे बड़ी शक्तियों को कमजोर कर रहे हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा और संघ की विचारधारा आज हमारी सच्ची ताकतों को कमजोर कर रहे हैं।’’

कांग्रेस पार्टी की यह यात्रा तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हुई थी और 150 दिन में 3,570 किलोमीटर का सफर तय कर जम्मू कश्मीर में इसका समापन होगा। यात्रा के केरल के चरण में राहुल गांधी लगातार भाजपा और संघ पर हमले बोल रहे हैं।


कोल्लम में पदयात्रा के दो चरणों के बीच के समय में राहुल गांधी ने ऑटोरिक्शा चालकों और काजू किसानों समेत समाज के अनेक वर्गों के लोगों तथा छात्रों से मुलाकात की।

बातचीत के अनुभव साझा करते हुए राहुल ने कहा, ‘‘भारत जोड़ो यात्रा का उद्देश्य भारत के लोगों, विशेष रूप से वंचित तबकों को जोड़ना है। हम यहां उनकी चिंताएं सुनने आये हैं। मैं आज सुबह परायिल गांव में मिले प्यार से अभिभूत हूं, लेकिन उनके संघर्ष को देखकर उनता ही दुखी भी हूं।’’

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष आज सुबह यात्रा की शुरुआत करने से पहले तिरुवनंतपुरम में प्रख्यात समाज सुधारक श्री नारायण गुरु को श्रद्धांजलि देने के लिए शिवगिरि मठ गए।

शिवगिरि मठ में राहुल ने संन्यासियों से मुलाकात की और संत श्री नारायण गुरु के आगे शीश नवाया।


गांधी ने फेसबुक पर यात्रा की तस्वीरें साझा करते हुए कहा, “महान आध्यात्मिक, दार्शनिक और समाज सुधारक श्री नारायण गुरु की समाधि शिवगिरि मठ जाकर श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री नारायण गुरु ने लोगों के उत्थान के लिए अथक परिश्रम किया और महात्मा गांधी समेत कई स्वतंत्रता सेनानियों पर उनका प्रभाव रहा।”

यात्रा सुबह साढ़े सात बजे नवैकुलम जंक्शन से प्रारंभ हुई, जिसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। यात्रा तिरुवनंतपुरम जिले में तीन दिन रही और इसके बाद कोल्लम पहुंची।

राहुल ने तिरुवनंतपुरम में कल्लम्बलम जंक्शन पर मंगलवार को उस दिन की यात्रा का समापन होने के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर आरोप लगाया था कि कैसे खुद को हिंदुओं की प्रतिनिधि बताने वाली पार्टी देश में ‘अशांति’ फैला रही है, जबकि हिंदुत्व में सबसे पहले ‘ओम शांति’ शब्द सिखाया जाता है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा था, “वे जहां भी जा रहे हैं, सद्भाव बिगाड़ रहे हैं, लोगों पर हमले कर रहे हैं और उन्हें विभाजित करने का काम रहे हैं।”

—भाषा



Related news