हरिद्वार (दैनिक हाक): मुख्य विकास अधिकारी प्रतीक जैन की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में शुकवार को सड़क सुरक्षा एवं दुर्घटना न्यूनीकरण अनुश्रवण समिति की बैठक आयोजित हुई। बैठक में सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी रश्मि पन्त ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से सड़क सुरक्षा एवं दुर्घटना न्यूनीकरण के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ने परिवहन व पुलिस विभाग के अधिकारियों से दुर्घटना बाहुल्य क्षेत्रों में सड़क सुरक्षा सम्बन्धी जागरूकता के लिये क्या उपाय किये जा रहे हैं, के सम्बन्ध में जानकारी ली। इस पर अधिकारियों ने बताया कि जनपद के विभिन्न विद्यालयों एवं थानों में सड़क सुरक्षा सम्बन्धी जागरूकता कार्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं। बैठक में सड़कों पर अवैध कट के सम्बन्ध में भी चर्चा हुई, जिस पर पुलिस विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इसकी निगरानी के लिये चिड़ियापुर, नारसन एवं भगवानपुर में एएनपीआर कैमरे लगाये जाने की कार्यवाही गतिमान है। अवैध कट के सम्बन्ध में एनएच के अधिकारियों ने बताया कि कुछ स्थानीय कट को छोड़कर अधिकतर अवैध कट बन्द कर दिये हैं। इस पर मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि जो भी अवैध कट हैं, उनका परीक्षण तथा सर्वे कराकर, उन्हें भी स्थायी रूप से बन्द करने की कार्रवाई की जाये। राष्ट्रीय राजमार्गों पर ई-रिक्शा के सम्बन्ध में चर्चा करते हुये अधिकारियों ने बताया कि ई-रिक्शा संचालन हेतु मार्गों का चिह्नांकन कर लिया गया है। बैठक में अधिकारियों ने ब्लैक स्पॉट के सम्बन्ध में बताया कि जनपद में कुल 31 ब्लैक स्पॉट चिह्नित किये गये हैं, जिनमें से 20 ब्लैक स्पॉट पर दीर्घकालीन सुधार पूर्ण कर लिये गये हैं, शेष सभी स्थलों पर लघुकालीन सुधार कार्य किये गये हैं। बैठक में राष्ट्रीय राजमार्गों के 220 मीटर की परिधि में संचालित मदिरा की दुकानों के सम्बन्ध में भी विचार-विमर्श हुआ, जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने आबकारी विभाग को ऐसी दुकानों का चिह्नीकरण करके बन्द करने के निर्देश दिये। बैठक में अधिकारियों ने यह भी जानकारी दी गयी कि सबसे अधिक दुर्घटनायें ओवर स्पीडध्रैश ड्राईविंग के कारण होती हैं। उन्होंने बताया कि वर्ष 2022 में पुलिस विभाग, परिवहन विभाग तथा परिवहन विभाग रूड़की द्वारा विभिन्न कारणों में कुल 39515 चालान किये गये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ने अधिकारियों को सड़क सुरक्षा के सम्बन्ध में जागरूकता लाने के लिये सभी माध्यमों-प्रिण्ट, इलेक्ट्रानिक, सोशल मीडिया आदि से व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिये। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) बीर सिंह बुदियाल, सिटी मजिस्ट्रेट अवधेश कुमार सिंह, एएसडीएम रूड़की विजयनाथ शुक्ल, अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण, सुरेश तोमर, सीओ ट्रैफिक सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे। 





Related news