• मरने वालों की संख्या सात से बढ़कर हुई नौ 
  • चार ग्रामीणों की हालत बिगड़ने पर अस्पताल में भर्ती 

हरिद्वार (दैनिक हाक): पथरी शराब कांड में दो ओर ग्रामीणों की मौत हो गयी। जिनमें एक ग्रामीण की सिडकुल स्थित मेट्रो हॉस्पिटल और दूसरे का एम्स ऋषिकेश में उपचाराधीन था। वहीं चार ग्रामीणों की हालत बिगड़ने पर उनको उपचार के लिए ग्राम फूलगढ़ से अलग-अलग हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। जिनमें एक ग्रामीण को उपचार के लिए जिला अस्पताल से सोमवार को एम्स ऋषिकेश रेफर किया गया है। जबकि तीन ग्रामीण लक्सर क्षेत्र के निजी हॉस्पिटल में उपचाराधीन है। पथरी शराब कांड में करने वालों की संख्या 7 से बढ़ कर 9 हो गयी है। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के बाद परिजनों के सुपूर्द कर दिया। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार दो ग्रामीणों सुखपाल पुत्र राजेन्द्र उम्र 35 वर्ष निवासी ग्राम शिवगढ़ पथरी हरिद्वार और अजय पुत्र योगेन्द्र उम्र 41 वर्ष निवासी ग्राम फूलगढ पथरी हरिद्वार की उपचार के दौरान मौत हो गयी। बताया जा रहा है कि मृतक सुखपाल का उपचार एम्स ऋषिकेश में चल रहा था। जिसको शनिवार की सुबह जिला अस्पताल से रफेर कर एम्स में भर्ती कराया गया था। बताया जा रहा है कि अजय की उपचार के दौरान सिडकुल स्थित मेट्रो हॉस्पिटल में मौत हो गयी। सूचना पर पुलिस ने अजय के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। जहां शव को पोस्टमार्टम करने के बाद परिजनों के सुपूर्द कर दिया। जबकि एम्स ऋषिकेश में भर्ती सुखपाल के शव का पोस्मार्टम एम्स में किया गया। पथरी शराब कांड में दो ओर ग्रामीणों की मौत के बाद मरने वालो की संख्या 7 से बढ़ कर 9 हो गयी। वहीं चार ग्रामीणों की हालत बिगड़ने पर उनको उपचार के लिए अलग-अलग हॉस्पिटलों में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि कुंवर सेन पुत्र तिलकराम उम्र 40 वर्ष निवासी ग्राम फूलगढ़ पथरी हरिद्वार को उपचार के लिए जिला अस्पताल लाया गया। जहां पर चिकित्सकों ने उसकी हालत को देखते हुए हॉयर सेंटर एम्स ऋषिकेश रेफर कर दिया। जबकि तीन ग्रामीणों रोहताश पुत्र मुरारी उम्र 40 वर्ष, राजीव पुत्र सेवाराम उम्र 35 वर्ष और जगपाल पुत्र विक्रम उम्र 30 वर्ष निवासीगण ग्राम फूलगढ पथरी हरिद्वार को लक्सर के निजी हॉस्पिटल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया हैं। ग्राम शिवगढ़ के पूर्व प्रधान मांगेराम ने बताया कि दो और ग्रामीणों की मौत हो गयी, जिनमें एक ग्रामीण सिडकुल स्थित निजी हॉस्पिटल और दूसरा एम्स ऋषिकेश में भर्ती था। जबकि चार ओर ग्रामीणों की हालत बिगड़ने पर उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। पूर्व प्रधान का कहना हैं कि अभी ग्राम शिवगढ़ और फूलगढ़ मेें और भी ऐसे ग्रामीण हैं जिनकी हालत खराब हैं, लेकिन वह सामने आकर अपना उपचार नहीं करा रहे हैं।



Related news