इस्लामाबाद: पाकिस्तान में महंगाई कम नहीं हो रही है। पाकिस्तान (पाक) में फिर से पेट्रोल-डीजल महंगे हो गए हैं। पाकिस्तान में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 30 रुपये की वृद्धि की गई है। अब इस पर पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने मौजूदा शहबाज शरीफ की सरकार पर निशाना साधा है। अपने ट्वीट में इमरान खान ने लिखा कि आयातित सरकार ने पेट्रोलियम की कीमतों में 40 फीसदी या 60 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की है। इससे जनता पर 900 अरब रुपये का बोझ बढ़ेगा और बुनियादी जरूरतों में कीमतों में बढ़ोतरी होगी। साथ ही, बिजली की कीमतों में 8 रुपये की बढ़ोतरी पूरे देश को सदमे में डाल देगी। महंगाई दर 75 साल में सबसे ज्यादा 30 फीसदी होने की उम्मीद है। 

 इमरान खान ने लिखा कि हमारी सरकार ने कोरोना का दबाव बनाए रखा और 1200 अरब रुपये का आर्थिक पैकेज दिया। उन्होंने दावा किया कि इस वर्ष अकेले हमने बिक्री कर को शून्य प्रतिशत कर दिया और साथ ही अपनी जनता की सुरक्षा के लिए 466 अरब रुपये की ऊर्जा सब्सिडी प्रदान की। हमारे लिए हमारी प्राथमिकता हमेशा हमारे लोग रहे हैं। मौजूदा सरकार पर हमला करते हुए इमरान ने लिखा कि मैं चाहता हूं कि हर कोई शांतिपूर्ण ढंग से सामने आए और इस आयातित सरकार की जनता को कुचलने और देश में आर्थिक तबाही मचाने के लिए बड़े पैमाने पर मूल्य वृद्धि की जन-विरोधी नीतियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करे क्योंकि उनका यहां कोई दांव नहीं है उनकी संपत्ति पूरी विदेश में है। पाकिस्तान में पेट्रोल की कीमत 200 रुपये के पार पहुंच गई है। पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोत्तरी की घोषणा पाकिस्तान के मंत्री मिफताह इस्माइल ने की। अब पाकिस्तान में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 209.86 रुपये है वहीं डीजल 204.15 रुपये का मिल रहा है। वहीं, चीन नकदी संकट से जूझ रहे पाकिस्तान की मदद के लिए एक बार फिर आगे आया है। पाकिस्तान के वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल ने कहा कि चीन के बैंकों ने उनके देश को 2.3 अरब डॉलर के पुन: वित्तपोषण पर सहमति जतायी है, जिससे पाकिस्तान के विदेशी मुद्रा भंडार में वृद्धि होगी।



Related news