हरिद्वार (दैनिक हाक): सिडकुल थाना क्षेत्र अंतर्गत नवोदय नगर वासियों ने एक निजी स्कूल के एमडी और साथियों द्वारा स्थानीय लोगों से की गई मारपीट की घटना में प्रशासन और पुलिस पर सुनवाई ना करने का आरोप लगाया है। नवोदय नगर वासियों का आरोप है कि सिडकुल थाने में शिकायत दर्ज कराने और एसएसपी, जिलाधकारी को घटना से अवगत कराने के बावजूद और घटना के नौ दिन बाद भी कोई कार्रवाई नही की जा रही है।

प्रेस क्लब में पत्रकारों को जानकारी देते हुए नगर पालिका शिवालिक नगर के वार्ड 13 के सभासद सिंहपाल सिंह सैनी ने बताया कि बीती 27 अगस्त को एक निजी स्कूल के एमडी ने स्थानीय निवासियों को गालियां देते हुए अपने साथियों के साथ लाठी, डंडे, सरिया और अन्य हथियारों से लैस होकर मारपीट की और धमकी देते हुए फरार हो गए। मारपीट में आतौल सिंह गोसांई को काफी चोटें आयी हैं। एसएसपी और जिलाधिकारी के समक्ष शिकायत दर्ज कराने बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। केवल आश्वासन दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि बताया कि नवोदय नगर में नाले के पास खाली भूमि पर पीपल का पेड़ है। स्थानीय महिला पीपल की पूजा कर जल चढ़ाती है। महिलाओं द्वारा पीपल के नीचे चबूतरा बनाया जा रहा था तभी स्कूल के एमडी ने मारपीट शुरू कर दी। आतौल सिंह गोसांई ने कहा कि स्कूल चलाने वाले व्यक्ति द्वारा जमीन कब्जाने की नीयत से महिलाओं को पीपल के नीचे चबूतरा बनाने से रोका जा रहा है। इसका विरोध करने पर उन्हें लाठी डंडों से बुरी तरह पीटा गया। शिकायत करने के बाद भी पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। पहाड़ी महासभा की सरिता पुरोहित व सुभाष पुरोहित ने पूरे मामले की निष्पक्ष जांच और दोषियों पर सख्त कार्रवाई की मांग करते हुए आंदोलन की चेतावनी दी। 

पत्रकार वार्ता के दौरान स्थानीय निवासियों ने मांग कि स्कूल के एमडी को तुरंत गिरफ्तार किया जाए और संपत्ति की भी जांच की जानी चाहिए। जो अधिकारी जमीन की खरीद-फरोख्त में शामिल है, उन पर कार्रवाई की जानी चाहिए। लोेगों ने आरोप लगाया कि एमडी रिवाल्वर दिखाकर लोगों को धमकाता है। रिवाल्वर का लाईसेंस रद्द कर रिवाल्वर जब्त की जाए। लोगों ने यह भी आरोप लगाया कि राजनीतिक संरक्षण के चलते दोषी पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। इस दौरान तेज चौधरी, गुड्डु चौधरी, अशोक शर्मा, सचिन त्यागी, सुधीर चौधरी, कुंवर सिंह बिष्ट, अखिलेश मिश्रा, मनोज राणा, सुरेंद्र राणा, नीमा नेगी, रेनू महेश्वरी, राजेश, निशा, मालती आदि स्थानीय लोग मौजूद रहे। 



Related news