नानकमत्ता (दैनिक हाक): रकम दोगुनी करने का लालच देकर लोगों से ठगी करने वाले गिरोह के छह सदस्यों को पुलिस ने दबोच लिया। आरोपियों के पास से आठ लाख रुपये की नगदी बरामद की गयी है।

एसपी सिटी मनोज कत्याल ने खुलासा करते हुये बताया कि नानकमत्ता निवासी अमरीक सिंह और उसकी मां गुरमीत कौर ने हाल में जमीन बेची थी। क्षेत्र के ही बनगवां खटीमा निवासी इंद्रपाल सिंह, टुकड़ी नानकमत्ता निवासी करनैल सिंह को इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने मां-बेटे से रकम ठगने की साजिश रच ली। करनैल सिंह और उसकी पत्नी कुलविंदर कौर ने अमरीक को बताया कि इंद्रपाल सिंह के पास एक ऐसी मशीन है, जिसमें नोट रखने से वे दोगुने हो जाते हैं। इस पर अमरीक की मां गुरमीत कौर ने 50 हजार रुपये उन्हें दे दिये। आरोपियों ने नोटों के आकार के कागज के टुकड़ों पर स्याही लगायी और एक शीशे के डब्बे में रख दिया। कुछ समय बाद एक लाख रुपये अमरीक-गुरमीत को दे दिये। इससे मां-बेटे को उन पर यकीन हो गया। बाद में अमरीक ने उन्हें तीन लाख रुपये दोगुने करने को दे दिये। आरोपियों ने यह रकम डब्बे में रखकर करनैल सिंह के घर रखवा दी और तीन दिन बाद आने को कहा। इस बीच गुरमीत को संदेह हुआ तो वह रकम वापस लेने पहुंच गये। लेकिन आरोपियों ने फिर झांसे में लेकर पांच लाख रुपये और मांग लिये। इस तरह अमरीक ने कुल आठ लाख रुपये आरोपियों को दोगुने करने को दिये।

एसपी सिटी ने बताया कि इसी बीच एक सफेद कार में सवार हथियारबंद बदमाश आये और इंद्रपाल सिंह व करनैल सिंह को बंधक बनाकर कार में बिठा ले गये। वे अपने साथ आठ लाख रुपये की पोटली भी ले गये। अमरीक ने घटना की जानकारी पुलिस को दी तो पुलिस ने अपहरण और लूट के आरोपी नौगवांठग्गू खटीमा निवासी सोहन सिंह, न्यूरिया पीलीभीत निवासी बलविंदर सिंह और रघुलिया खटीमा निवासी गुरमेज सिंह को दबोच लिया। उनके कब्जे से इंद्रपाल, करनैल और आठ लाख रुपये मिले। पूछताछ की गयी तो पता चला कि तीनों आरोपी इंद्रपाल और करनैल के ही साथी है। अमरीक को रकम दोगुनी करने पर शक था, लिहाजा इंद्रपाल-करनैल ने खुद ही आरोपियों से अपना अपहरण और लूट करवायी ताकि अमरीक को लगे कि उसकी दी रकम बदमाश लूट ले गये हैं। बाद में यह रकम सभी आरोपी आपस में बांट लेते। एसपी ने बताया कि मामले में आरोपी बलविंदर कौर को भी गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपियों के पास से कागज के नोट के आकार के भूरे और सफेद रंग के टुकड़े, शीशा, घटना में प्रयुक्त 2 नाली बंदूक 12 बोर लाइसेंसी, एक स्विफ्ट डिजायर कार बरामद की। बताया कि मामले में लाइसेंसी हथियारों के दुरुपयोग की भी धारा लगायी गयी है।

टीम में यह रहे शामिल- एसओ केसी आर्य, एसआई जावेद मालिक, एसआई शंकर सिंह बिष्ट, एसआई बिजेंद्र कुमार, एसआई दरबान सिंह, एसआई मंजू पवार, पूरन सिंह, लोकेश तिवारी, पूरन सिंह, राजकुंवर सिंह, प्रकाश आर्या, यशवंत सिंह, गिरीश चंद्र, नवनीत कुमार, बीना कोहली, राजेश कुमार, तारादत्त, विद्या रानी, रमेश भट्ट।



Related news