नई दिल्ली: कांग्रेस नेता और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी पर देश में नफरत फैलाने का आरोप लगाया है। राहुल ने कहा कि बीजेपी ने पूरे देश में केरोसीन छिड़क दिया है, एक चिंगारी से आग भड़क सकती है। राहुल गांधी ने कहा कि देश में हालात ठीक नहीं है। कांग्रेस नेता ने कहा कि पीएम मोदी किसी की नहीं सुनते हैं। देश में लोगों की आवाज दबाने की कोशिश हो रही है। राहुल गांधी ने चीन मुद्दे पर भी मोदी सरकार को निशाने पर लेकर कहा कि चीनी सेना लद्दाख में घुस चुकी है। राहुल गांधी ने एलएसी विवाद के रूस-यूक्रेन युद्ध से भी जोड़ दिया।

राहुल ने दावा किया कि रूस जो यूक्रेन में कर रहा है, कुछ वैसी ही स्थिति चीन ने लद्दाख में पैदा की है। राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार इस बारे में बात तक नहीं करना चाहती। राहुल गांधी के अनुसार, 'चीन की सेनाएं लद्दाख़ और डोकलाम दोनों जगह हैं। चीन की तरफ से कहा जा रहा है, इन इलाकों से भारत का संबंध है, लेकिन हम नहीं मानते कि यह भूभाग आपका है। इस दौरान राहुल गांधी ने परोक्ष रूप से फिर देश में चुनिंदा बिजनेस ग्रुप के आधिपत्य पर भी निशाना साधा। राहुल गांधी ने कहा कि मुझे लगता है कि एक कंपनी के लिए सभी हवाई अड्डों, सभी बंदरगाहों, सभी बुनियादी ढांचे को नियंत्रित करना बहुत खतरनाक है। यह (निजी क्षेत्र का एकाधिकार) इस रूप में कभी अस्तित्व में नहीं रहा। कांग्रेस नेता ने कहा कि सत्ता और पूंजी के इतने बड़े केंद्रीकरण के साथ इसका अस्तित्व कभी नहीं रहा।

यूक्रेन में जो हो रहा है कुछ वैसी ही स्थिति लद्दाख में 

राहुल गांधी ने दावा किया कि रूस जो यूक्रेन में कर रहा है, कुछ वैसी ही स्थिति चीन ने लद्दाख में पैदा की है, लेकिन मोदी सरकार इस बारे में बात तक नहीं करना चाहती। राहुल गांधी ने कहा, रूसी यूक्रेन से कहते हैं कि हम आपकी क्षेत्रीय अखंडता को नहीं स्वीकारते हैं, हम यह मानने से इनकार करते हैं, कि दो जिले तुम्हारे हैं..हम उन दो जिलों में हमले करने जा रहे हैं, ताकि यह सुनिश्चित कर सकें कि तुम उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) से गठजोड़ तोड़ दो।

गांधी ने कहा, पुतिन यही कर रहे हैं। पुतिन कह रहे हैं कि मैं इसके लिए तैयार नहीं हूं कि तुम अमेरिका के साथ गठजोड़ करो... मैं तुम पर हमला करूंगा। कांग्रेस नेता ने दावा किया, यूक्रेन में जो हो रहा है और लद्दाख में जो हो रहा है, उनकी तुलना करिए। 

कृपया आप देखिए, दोनों जगह समान स्थिति है। गांधी के अनुसार, चीनी सेनाए लद्दाख और डोकलाम दोनों जगह हैं। चीन कह रहा है इन इलाक़ों से आपका (भारत) संबंध है लेकिन हम (चीन) नहीं मानते कि यह भूभाग आपका है। उन्होंने कहा मेरी समस्या यह है कि वह (भारत सरकार) इस पर कोई बात नहीं करना चाहती। उन्होंने सीमा पर चीन की आक्रमकता और पैगोंग झील पर चीन द्वारा दूसरा पुल बनाने संबंधी खबरों का हवाला देकर दावा कि मोदी सरकार इस बारे में बात भी नहीं करती।






Related news