मेरठ: उत्तर प्रदेश में सावन महीने के चलते कांवड़ियों का बहार है ऐसे में मेरठ जिले के कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र में कांवड़ यात्रा पर थूकने के आरोप पर हंगामा हो गया। मालूम हो कि नेशनल हाईवे-58 पर कांवड़ियों का एक जत्था हरिद्वार से राजस्थान की तरफ जा रहा था। आरोप के मुताबिक इस दौरान एक दूसरे संप्रदाय विशेष के दो लोगों ने कांवड़ियों के जत्थे के बीच में जाकर थूक दिया। इसके बाद कांवड़िए आक्रोशित हो गए और जमकर उत्पात मचाया और एसपी सिटी की गाड़ी तोड़ दी। राजस्थान के एक कांवड़िए का आरोप है कि एक विशेष समुदाय के शख्स ने उनके कांवड़ पर थूक कर उसे खंडित कर दिया। आरोप के मुताबिक इस हरकत को दो लोगों ने अंजाम दिया, और दोनों शख्स एक ही समुदाय के थे। 

बता दें कि इस मामले में पुलिस ने आरोपियों को हिरासत में ले लिया है और आगे की जांच कर रही है। वहीं घटना के बाद कावड़ियों ने हाइवे को जाम कर दिया था। इसकी वजह से दिल्ली-देहरादून हाइवे पर घंटों तक लोगों जाम लगा रहा। राजस्थान के जिला भरतपुर तहसील गांव सीकरी निवासी कावड़ियों ने मीडिया को बताया कि विशाल कावड़ को हरिद्वार से लाने की तैयारी वो पिछले दो महीने से कर रहे थे। इसके लिए 21 जुलाई की शाम को 40 कांवड़ियों का एक समूह कावड़ के साथ राजस्थान के लिए चला था। लेकिन कंकरखेड़ा नेशनल हाईवे 58 पर कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र के पास पहुंचने के दौरान दो युवकों ने रोड डिवाइडर से कूद कर जत्थे के बीच आकर उनकी कावड़ पर तीन-चार जगह थूक दिया। जिससे कांवड़ खंडित हो गई।

इस घटना के बाद कांवड़ियों ने नेशनल हाईवे 58 को तीन घंटे तक जाम लगाकर धरना दिया। जिसके बाद जिलाधिकारी दीपक मीणा और पुलिस अधीक्षक रोहित सिंह सजवाण समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और कांवड़ियों को समझाया। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया और कांवड़ियों को शांत किया। इस घटना के बाद से आक्रोशित कांवड़ियों ने एसपी सिटी विनीत भटनागर की गाड़ी के लाठी-डंडों से क्षतिग्रस्त कर दिया। भीड़ ने गाड़ी के शीशे तोड़ दिए। जिसके बाद मौके पर एसपी ट्रैफिक जितेंद्र श्रीवास्तव कई थानों की पुलिस और पीएसी के जवानों संग निगरानी के लिए मौजूद रहे।



Related news