हरिद्वार (दैनिक हाक): भाजपा हाईकमान ने उत्तराखण्ड का भाजपा प्रदेशाध्यक्ष महेन्द्र भट्ट को बनाया गया है। मदन कौशिक की छुट्टी होने पर उनके समर्थकों में मायूसी देखी जा रही है। जबकि उनके विरोधी खेमे में जश्न का माहौल है। बताया जा रहा हैं कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पद से विधायक मदन कौशिक की विदाई विधानसभा चुनाव के बाद तय मानी जा रही थी। लेकिन भाजपा हाईकमान ने प्रदेशाध्यक्ष पद पर अपना निर्णय अब जाकर सुनाया है। प्रदेशाध्यक्ष विधायक मदन कौशिक को हटाये जाने की पीछे की वजह विधानसभा चुनाव में विधायकों द्वारा लगाये गये गम्भीर आरोपों से केंद्रीय नेतृत्व बेहद नाराज होना बताया जा रहा है। 

बताते चलंे कि उत्तराखण्ड विधानसभा मतदान के बाद ही लक्सर विधायक संजय गुप्ता और हरिद्वार ग्रामीण विधायक स्वामी यतीश्वरानंद ने खुलकर उनके क्षेत्र में उनको हराने के लिए प्रदेशाध्यक्ष पर काम करने का गम्भीर आरोप मढा था। बताया जा रहा हैं कि उस वक्त भाजपा हाईकमान ने इन आरोपों को गम्भीरता से नहीं लिया। लेकिन जब परिणाम सामने आये तो उनके आरोपों को हाईकमान ने गम्भीरता से लेते हुए मंथन शुरू किया। बताया जा रहा है कि भाजपा हाईकमान पार्टी विधायकों व नेताओं की शिकायतों को लेकर प्रदेशाध्यक्ष मदन कौशिक से बेहद खफा था, तभी से उत्तराखण्ड प्रदेशाध्यक्ष को बदलने की अटकले शुरू हो गयी थी। 

भाजपा हाईकमान ने शनिवार को प्रदेश में लगाई जा रही अटकलों पर विराम लगाते हुए नये प्रदेशाध्यक्ष पद पर पूर्व विधायक महेन्द्र भट्ट की घोषणा कर दी है। बताया जा रहा हैं कि बुधवार को भाजपा के पूर्व विधायक महेंद्र भट्ट की राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात हुई थी। इसके बाद से ही पूर्व विधायक महेन्द्र भट्ट को प्रदेशाध्यक्ष पद की बागडौर सौंपने की अटकलें तेज हो गयी थी। उत्तराखण्ड में अचानक प्रदेशाध्यक्ष पद पर हुए परिवर्तन को लेकर विधायक मदन कौशिक का खेमा अवाक है, जिसमें मायूसी का माहौल देखा जा रहा है, जबकि विरोधी खेमे में जश्न का माहौल है। भाजपा हाईकमान द्वारा महेन्द्र भट्ट की प्रदेशाध्यक्ष पद पर नियुक्ति पत्र सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। 



Related news