हार्वर्ड : अगर आप हर दिन महज 12 मिनट अपनी हेल्थ के लिए निकालेंगे, तो डिप्रेशन के खतरे को काफी हद तक कम कर सकते हैं। सुनने में अजीब लग रहा होगा लेकिन यह बात पूरी तरह सही है। ताजा अध्ययन में इस बात का खुलासा हुआ है। इसमें बताया गया है कि महज कुछ मिनट एक्सरसाइज करना भी स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होता है। 

हार्वर्ड मेडिकल स्कूल की रिपोर्ट के मुताबिक, डिप्रेशन और एक्सरसाइज को लेकर कुछ महीने पहले एक स्टडी सामने आई थी। इसमें करीब 2 लाख लोगों को शामिल किया गया था। स्टडी में शामिल कुछ लोगों ने हर दिन 10-15 एक्सरसाइज की, जबकि कुछ लोगों ने 20-25 मिनट फिजिकल एक्टिविटी में बिताए। कुछ लोग ऐसे भी थे, जिन्होंने एक भी दिन एक्सरसाइज नहीं की। स्टडी के शोधकर्ताओं ने डाटा इकट्ठा करने के बाद आकलन किया, तो रिजल्ट बेहद चौंकाने वाले थे। 

स्टडी में पता चला कि जिन लोगों ने हर सप्ताह करीब 75 मिनट लाइट या हैवी एक्सरसाइज की, उन लोगों में डिप्रेशन का खतरा 18प्रतिशत तक कम देखा गया। जिन लोगों ने हर सप्ताह करीब 180 मिनट इंटेंस एक्सरसाइज की, उनमें डिप्रेशन का खतरा 25 प्रतिशत तक कम था। आपको हैरानी होगी कि जो लोग हर दिन कुछ मिनट तक वॉक करते हुए नजर आए, उन्हें मेंटल हेल्थ को लेकर फायदा हुआ। स्टडी में कहा गया है कि थोड़ी बहुत फिजिकल एक्टिविटी भी मेंटल हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद साबित होती है। इसलिए लोगों को अपने रूटीन में इसे शामिल करना चाहिए। एक रिपोर्ट के मुताबिक, कई स्टडी में यह बात सामने आ चुकी है कि अच्छा डाइट पैटर्न डिप्रेशन, एंग्जायटी, स्ट्रेस और मेंटल डिसऑर्डर लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है। एक अध्ययन में पाया गया कि फल, सब्जियां, साबुत अनाज, फलियां और प्रोसेस्ड मीट से भरपूर डाइट डिप्रेशन के लक्षणों को 10 प्रतिशत तक कम कर सकती है। 

मछली और डेयरी प्रोडक्ट का सेवन बढ़ा सकते हैं और फ्राइड फूड व मिठाइयों का सेवन कम से कम करें। तनाव और चिंता को कम करने के लिए आप शराब, कैफीन और शुगर वाले खाद्य पदार्थों से पूरी तरह दूरी बना लें। तनाव को कम करने के लिए फाइबर युक्त फल और सब्जियां खाएं। मालूम हो कि वर्तमान समय में डिप्रेशन एक गंभीर समस्या बनता जा रही है और बड़ी संख्या में लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं। जो लोग इस बीमारी की चपेट में आ जाते हैं, उन्हें ठीक होने में लंबा वक्त लगता है। 



Related news