लखीमपुर: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में बीती रात एक दलित समुदाय की दो बहनों के पेड़ से लटके पाए जाने के बाद जमकर हंगामा हुआ। इस मामले में परिवार ने लड़कियों को जबरन उठाकर ले जाने और हत्या करने का आरोप लगाया है। वहीं अपर एसपी अरुण कुमार सिंह, लखीमपुर खीरी के मुताबिक लखीमपुर कांड में बलात्कार, हत्या और बाल शोषण का मामला दर्ज किया गया है। एफआईआर में एक नामजद और तीन अज्ञात आरोपियों का जिक्र है। लड़कियों की मां ने मीडिया और पुलिस को बताया है कि आरोपी उनकी बेटियों को जबरन मोटरसाइकिल पर बिठाकर ले गए। लड़कियों की मां ने आरोप लगाया है कि जब उसने आरोपियों को रोकने की कोशिश की तो आरोपियों ने उसके साथ मारपीट की। परिवार और गांव वालों ने बाद में लड़कियों की तलाश की और उनके शव एक पेड़ से लटके मिले। महिला ने आरोप लगाया है कि उसकी बेटियों के साथ रेप किया गया और फिर उनकी हत्या कर दी गई। आरोपियों पर हत्या और बलात्कार से संबंधित आईपीसी की धाराओं और पॉक्सो के तहत आरोप लगाए गए हैं। तमोलिनपुरवा गांव में दो सगी किशोरियों की मौत के बाद आक्रोशित गांव वालों ने निघासन चौराहा जाम कर दिया। एसपी सहित पुलिस अधिकारियों ने किसी तरह से जाम खुलवाया। करीब दो घंटे बाद देर रात करीब साढ़े नौ बजे दुबारा चौराहा जाम कर दिया गया। किशोरियों की मां चौराहे पर धरने पर बैठ गई। बेटियों की हत्या का आरोप लगाते हुए दोषियों को गिरफ्तार करने, कार्रवाई की मांग को लेकर धरना शुरू कर दिया। इससे पुलिस के एक बार फिर हाथपांव फूल गए। भारी संख्या में ग्रामीण चौराहे पर डटे रहे। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने कार्रवाई का आश्वासन देते रहे। देर रात तक धरना जारी रहा। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मौके पर डटे रहे।





Related news