नयी दिल्ली: अखिल भारतीय शतरंज महासंघ (एआईसीएफ) के सचिव भरत सिंह चौहान ने कहा कि खेलो इंडिया कार्यक्रम की तर्ज पर ‘खेलो शतरंज’ की पहल देश में इस खेल में क्रांति ला सकती है।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 जून को यहां जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में शतरंज ओलंपियाड की मशाल रिले के दौरान खेलो शतरंज कार्यक्रम शुरू करने की इच्छा की घोषणा की थी जिसके बाद एआईसीएफ के शीर्ष अधिकारी ने यह बात कही।


चौहान ने एक बयान में कहा, ‘‘भारत में शतरंज की काफी संभावनायें हैं और एआईसीएफ युवा प्रतिभाओं के विकास के लिये मनोयोग से काम कर रहा है। हालांकि शतरंज के लिये खेलो इंडिया जैसा कार्यक्रम देश में इस खेल में क्रांति ला सकता है। ’’


उन्होंने कहा, ‘‘यह शतरंज को भारत में ‘पावरहाउस’ बनाने के हमारे उद्देश्य को मजबूती देगा। इस स्तर के देश व्यापी टूर्नामेंट से युवा भारतीय इस खेल को खेलने के लिये ही प्रेरित नहीं होंगे बल्कि इससे देश की सर्वश्रेष्ठ प्रतिभायें भी सामने आयेंगी। ’’

—भाषा



Related news