करनाल: हरियाणा सिटी में पुलिस के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है। करनाल पुलिस ने मधुबन थाना क्षेत्र से चार संदिग्ध आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आतंकवादी किसी बड़े आतंकी हमले की फिराक में थे। आतंकियों के तार पाकिस्तान से भी जुड़े हुए हैं। पकडे़ गए आतंकियों के नाम गुरप्रीत, संदीप, परमिंदर और भूपेंद्र है। इनमें तीन फिरोजपुर के रहने वाले हैं, और एक लुधियाना का है। 

पुलिस की चार टीमों ने विश्वसनीय सूचना के आधार पर दिल्ली नंबर की इनोवा गाड़ी को दिल्ली चंडीगढ़ नेशनल हाईवे स्थित बसताड़ा टोल के पास रोका, जिसके बाद चारों आतंकियों को पकड़ने में सफलता हासिल हुई। पुलिस ने उनके कब्जे से हथियार और विस्फोटक सामान भी बरामद किए। इनके पास से देसी पिस्टल 31 जिंदा कारतूस बारूद से भरे तीन कंटेनर और 130000 बरामद हुए हैं। आतंकी इनोवा कार से पंजाब से दिल्ली जा रहे थे।

पुलिस अभी मामले में ज्यादा कुछ भी बताने को तैयार नहीं है। करनाल एसपी लगातार मामले की जांच कर रहे। पुलिस की ओर से फिलहाल विभिन्न धाराओं के तहत मामला मधुबन थाने में दर्ज कराया गया है और एसपी हिमाद्री कौशिक को जांच सौंपी गई है। चंडीगढ़, करनाल आईबी की टीमें भी आतंकवादियों से पूछताछ कर रही हैं।

करनाल एसपी के अनुसार पाकिस्तान में रह रहे आतंकी हरजिंदर सिंह ने इन आतंकियों को यह कंटेनर और अन्य सामान तेलंगाना के आदिलाबाद जिले की एक लोकेशन पर पहुंचाने की हिदायत दी थी। इन आतंकियों के फोन में भी यह लोकेशन मिली है। इन आतंकियों में सबसे मुख्य गुरप्रीत माना जा रहा है, जिसके साथ पाकिस्तान में बैठे आतंकी हरजिंदर सिंह का लगातार कम्युनिकेशन बना हुआ था।

गुरप्रीत जेल में रहते समय राजवीर नामक एक अन्य अपराधी के संपर्क में आया था, जो पहले से हरजिंदर के साथ जुड़ा हुआ था, उसी ने राजवीर का संपर्क हरजिंदर से कराया, जिसके बाद उसने हरजिंदर के लिए काम शुरू कर दिया। ऐसी जानकारी हैं कि इससे पहले भी हरजिंदर सिंह की ओर से इन आतंकवादियों को असाइनमेंट दिए जा चुके हैं। जिसके तहत ये महाराष्ट्र के नांदेड़ साहिब में भी हथियार सप्लाई करके आए थे। घटना के तुरंत बाद ही आसपास के जिलों को अलर्ट कर दिया गया है। करनाल में नाके लगा दिए गए हैं। आने जाने वाले वाहनों की चेकिंग की जा रही है।




Related news