कानपुर: कानपुर में शुक्रवार को भड़की हिंसा मामले में लखनऊ पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने हिंसा का मास्टरमाइंड हयात जफर हाशमी को लखनऊ के हजरतगंज इलाके से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल लखनऊ पुलिस हाशमी से पूछताछ में जुटी है। हाशमी पर आरोप है कि उसने फेसबुक पोस्ट के द्वारा लोगों को कानपुर में बाजार बंद करने और जेल भरो आंदोलन की अपील की थी। हाशमी को कानपुर में पोस्टर लगावाने का आरोप लगा है। वहीं हाशमी के गिरफ्तारी के बाद उसकी पत्नी और परिवार के लोगों ने दावा किया है, कि जफर को फंसाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अनवरगंज थाने में अधिकारी के सामने हाशमी ने बंद का ऐलान वापस ले लिया था। 

बात दें कि सीएम योगी की सख्ती के बाद पुलिस ने 40 नामजद सहित 1000 अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है। हिंसा के दौरान 20 से अधिक वायरल वीडियो के आधार पर आरोपियों की पहचान की जा रही है। वहीं देर रात तक 50 लोगों को हिरासत में लिया गया है। पुलिस की 10 टीमें आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए ताबड़तोड़ दबिश दे रही है। वहीं पुलिस ने अभी तक 18 लोगों को गिरफ्तार किया है। दरअसल पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ अपमानजनक’ टिप्पणियों के विरोध में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद यहां हिंसा भड़क गई थी! 

पुलिस ने बताया कि कानपुर के परेड, नई सड़क और यतीमखाना इलाके में हिंसा हुई थी! पुलिस कमिश्नर विजय मीणा का कहना है कि दुकानों में लगे सीसीटीवी के डीवीआर मिलने के बाद सभी आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। पुलिस कमिश्नर ने इसके साथ ही कहा कि इस मामले में तीन एफआईआर दर्ज की गई है, जिसमें 2 पुलिस की तरफ से और एक पीड़ित पक्ष की तरफ से तहरीर प्राप्त होने के बाद मुकदमा दर्ज किया गया है।



Related news