नई दिल्‍ली: किडनी रैकेट मामले में दिल्ली पुलिस ने दूसरी गिरफ्तारी की है। इस मामले में पुलिस ने 34 साल के डॉक्टर प्रियांश शर्मा को गिरफ्तार किया है। 

प्रियांश दिल्ली के एक बड़े अस्पताल में सर्जन है। उसने 2007 से 2013 के बीच बरेली के एक कॉलेज से एमबीबीएस किया है, फिर 2015 से 2018 के बीच सैफई इटावा से एमएस किया है। आरोपी गुहाना के एक अस्पताल में अवैध किडनी ट्रांसप्लांट करता था। वह गिरोह के मास्टरमाइंड कुलदीप के साथ मिलकर ये काम कर रहा था। गौरतलब है कि इस मामले में पुलिस 10 आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। अब तक गिरफ्तार किए गए 11 आरोपियों में 3 डॉक्टर और 2 लैब टेक्नीशियन हैं।

गौरतलब है कि पुलिस ने दक्षिणी दिल्ली में एक किडनी रैकेट गिरोह का भंडाफोड़ किया है। मामले में गिरफ्तार आरोपियों ने शुरुआती पूछताछ में14 मामलों को अंजाम देने की बात कबूली है। दिल्‍ली पुलिस लगातार आरोपियों से पूछताछ कर रही है। साउथ दिल्ली डीसीपी बेनिता मेरी जेकर ने बताया कि इस पूरे घटनाक्रम की हौज खास थाने में शिकायत दर्ज कराई गई थी। 



Related news