इस्‍लामाबाद: पाकिस्‍तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने अपने भाई और वर्तमान पीएम शहबाज शरीफ को इमरान खान पर एक सलाह दी है। पाकिस्‍तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के प्रमुख नवाज ने उन्‍हें बताया है कि इमरान का सामना करने के लिए उन्‍हें क्‍या करना चाहिए। नवाज शरीफ ने पीएम शहबाज शरीफ से कहा है कि उन्‍हें आजादी मार्च के सिलसिले में पाकिस्‍तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के नेता इमरान से बातचीत करने की कोई जरूरत नहीं है। 

नवाज शरीफ इस समय लंदन में हैं और उन्‍हें इमरान की वजह से ही देश छोड़कर जाने के लिए मजबूर होना पड़ा था। हकीकी आजादी मार्च की वजह से इस्‍लामाबाद में हजारों की संख्‍या में लोगों का हुजूम इकट्ठा है। नवाज ने शहबाज को लंदन से बताया कि पीएम मोदी को किसी की भी सुनने की जरूरत नहीं है। यह मार्च इस्‍लामाबाद से लाहौर तक जाएगा। नवाज ने कहा कि शहबाज को न तो इमरान की कोई मांग मानने की जरूरत है और न उन पर गौर करने की जरूरत है। शनिवार को शहबाज शरीफ ने 13 सदस्‍यों की एक कमेटी बनाई है। इस कमेटी में सत्‍ताधारी गठबंधन सरकार के लोगों को भी शामिल किया है और मार्च को देखते हुए इसका गठन किया है। शहबाज ने कहा था कि अगर किसी को सरकार से कोई बात करनी है तो फिर उसे इस कमेटी से संपर्क करना होगा। पीएम शहबाज शरीफ को इमरान खान के मार्च के दबाव में आते देखकर पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने उन्हें सुझाव दिया है। 

एक के बाद एक कई ट्वीट में नवाज शरीफ ने कहा कि इमरान किसी भी तरह से अपना सम्‍मान बचाने की कोशिशों में लगे हुए हैं। इमरान लगातार यह दावा करते रहे हैं कि वह 10 लाख लोगों को इस्‍लामाबाद लेकर आएंगे, लेकिन अभी तक दो हजार लोग भी नहीं जुटा सके हैं। लोगों में इतना मतभेद सिर्फ इमरान के झूठों की वजह हैं, जो अब देश के सामने आ गए हैं। नवाज ने लिखा इमरान ने इतनी बेशर्मी और जिद के साथ एक के बाद एक झूठ बोले कि आईएसआईए के डीजी को चुप्‍पी तोड़नी पड़ी और देश को सच बताना पड़ा। इस सच का उनके पास कोई जवाब नहीं था। नवाज ने आगे लिखा इसी वजह से इमरान हमेशा से जोर देकर अभद्र भाषा बोलते हैं। 





Related news