हरिद्वार (दैनिक हाक): श्री पीयूष गोयल मा0 केन्द्रीय मंत्री, वाणिज्य एवं उद्योग, उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण तथा कपड़ा की अध्यक्षता में बुधवार को मेला नियंत्रण भवन(सीसीआर) में आकांक्षी जनपद के परिप्रेक्ष्य में जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक आयोजित हुई। बैठक में सांसद डॉ0 रमेश पोखरियाल ’निशंक’, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री मदन कौशिक ने भी प्रतिभाग किया।बैठक में जिलाधिकारी श्री विनय शंकर पाण्डेय ने बताया कि देश के 112 जिले आकांक्षी जनपद के रूप में चिह्नित किये गये थे, जिनमें से हरिद्वार भी एक है। आकांक्षी जनपद में स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि, वित्तीय समावेशन, आधारभूत संरचना आदि पर विशेष ध्यान देते हुये जनपद को विकसित जिले के रूप में स्थापित करना मुख्य उद्देश्य है। उन्होंने बताया कि इन क्षेत्रों में जनपद में विगत अवधि में काफी प्रगति हुई है।मा0 केन्द्रीय मंत्री श्री पीयूष गोयल को बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 सौरभ गहरवार एवं अन्य अधिकारियों ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से हरिद्वार जनपद का क्षेत्रफल, जनसंख्या, वनों का क्षेत्र, तहसील, विकासखण्ड, ग्राम पंचायतें, न्याय पंचायतें आदि के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी।मा0 केन्द्रीय मंत्री, वाणिज्य एवं उद्योग को वर्ष 2021-22 की जिला योजना के सम्बन्ध में जानकारी देते हुये अधिकारियों ने बताया कि इस योजना के अन्तर्गत गैण्डीखाता में चिकित्सालय का निर्माण, वैडमिण्टन कोर्ट बनाया जाना, रोशनाबाद में ई-सभागार का निर्माण, बहादराबाद विकास खण्ड में इण्टर लाकिंग का कार्य किया गया तथा केन्द्र पोषित योजना के अन्तर्गत ओवरहैड टेंकों का निर्माण कराया गया। इसके अतिरिक्त शत-प्रतिशत वेलनेस सेण्टरों का निर्माण कराया गया है। बैठक में अधिकारियों ने मा0 केन्द्रीय मंत्री को बताया कि जनपद को नीति आयोग का हमेशा सहयोग प्राप्त होता रहा है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य क्षेत्र में जनपद के रूड़की, सलेमपुर सहित तीन अस्पतालों को अच्छी सेवाओं के लिये पुरस्कृत किया गया ।शिक्षा क्षेत्र का उल्लेख करते हुये अधिकारियों ने बताया कि स्कूलों में शत-प्रतिशत शौचालयों का निर्माण हो चुका है, छात्र-अध्यापक प्रतिशत भी बढ़ा है, कई स्कूलों में स्मार्ट क्लास की व्यवस्थायें सुनिश्चित की गयी, सीसीआर मद से कई स्कूलों में अवस्थापना सुविधाओं का विकास किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि जिला योजना का 20 प्रतिशत बजट शिक्षा पर खर्च किया जा रहा है। इस पर मा0 मंत्री जी ने निर्देश दिये कि जिस किसी भी योजना पर आप खर्च कर रहे हैं, उसका पूरा विवरण दर्शाते हुये एक बोर्ड तैयार करना सुनिश्चित करें, जिसमें योजना की लागत आदि का पूरा विवरण होना चाहिये। उन्होंने कहा कि इससे व्यवस्था में पारदर्शिता आयेगी।बैठक में कृषि क्षेत्र का उल्लेख करते हुये अधिकारियों ने बताया कि जनपद में मृदा स्वास्थ्य कार्ड शत-प्रतिशत किसानों को उपलब्ध कराये गये हैं। किसानों की सुविधा के लिये धरती ऐप तैयार किया गया है, ड्रिप सिंचाई को बढ़ावा दिया जा रहा है, कृषि के यंत्रीकरण को बढ़ावा देने के लिये कई योजनायें चलाई जा रही हैं, खेती में द्रोण के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिये प्रोत्साहित किया जा रहा है, विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ किसानों तक पहुंचाने के लिये जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है, गंगा के तटीय क्षेत्रों में जैविक खेती को प्रोत्साहित किया जा रहा है। जैविक खेती पर मा0 मंत्री जी से अधिकारियों से कहा कि जैविक खेती की साख पर विशेष ध्यान दिया जाये।मा0 केन्द्रीय मंत्री, वाणिज्य एवं उद्योग को मशरूम की खेती के सम्बन्ध में मुख्य उद्यान अधिकारी ने बताया कि पूरे देश में सात स्थानों में से हरिद्वार का चयन भी मशरूम के लिये गया गया है। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष हरिद्वार में अन्तर्राष्ट्रीय मशरूम महोत्सव का आयोजन किया गया था। उन्होंने यह भी बताया कि यहां का अधिकतर मशरूम बंग्लादेश तथा नेपाल को निर्यात किया जाता है। इस मौके पर मशरूम के सम्बन्ध में एक लघु फिल्म भी प्रदशित की गयी। बैठक में मा0 केन्द्रीय मंत्री को कौशल विकास के क्षेत्र में क्या-क्या कार्य हो रहे हैं, के सम्बन्ध में भी जानकारी दी गयी।बैठक में जिला पूर्ति अधिकारी ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना, अन्त्योदय योजना, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्य योजना आदि के सम्बन्ध में मा0 केन्द्रीय मंत्री, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री को विस्तृत जानकारी दी। इस पर मा0 केन्द्रीय मंत्री ने अधिकारियों से कहा कि यह अत्यन्त महत्वूर्ण विषय है। उन्होंने कहा कि अनाज घर-घर पहुंचे यह हम सबकी चिन्ता होनी चाहिये। उन्होंने कहा कि इसका लाभ लाभार्थी को अवश्य होना चाहिये। अगर कहीं पर राशन आदि के सम्बन्ध में कोई शिकायत आती है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करें। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वन नेशन वन राशन कार्ड के सम्बन्ध में विस्तृत प्रचार प्रसार करें। अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में उत्तराखण्ड शत-प्रतिशत कवर है। प्रधानमंत्री अन्न पोषण योजना के सम्बन्ध में बैठक में चर्चा हुई। अधिकारियों ने पेयजल, सिंचाई की गूल, गांव-गाव तक सड़क पहुंचाना आदि के सम्बन्ध में भी मा0 केन्द्रीय मंत्री को पूरी जानकारी दी।इस अवसर पर जिलाधिकारी श्री विनय शंकर पाण्डेय को मा0 वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने शाल ओढ़ाकर तथा प्रतीक चिह्न भेंट कर सम्मानित किया।बैठक में मा0 केन्द्रीय मंत्री, वाणिज्य एवं उद्योग ने पुरस्कारों का जिक्र करते हुये कहा कि जो अच्छा कार्य करते हैं, उन्हें पुरस्कृत किया जाना चाहिये। उन्होंने कहा कि इससे एक उत्साह का वातावरण तैयार होने के साथ ही प्रतिस्पर्धा की वजह से अन्य लोग भी अच्छा कार्य करने के लिये प्रेरित होते हैं।इससे पूर्व मा0 केन्द्रीय मंत्री, वाणिज्य एवं उद्योग ने सीसीआर परिसर में लगाये गये एक जिला एक उत्पाद, प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्यम उन्नयन योजना, समाज कल्याण विभाग, सर्व समाज समिति, पशुपालन विभाग, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, दीन दयाल अन्त्योदय योजना, आदर्श महिला स्वयं सहायता समूह आदि द्वारा लगाये गये स्टॉलों का निरीक्षण किया तथा उनकी प्रशसा की।इस अवसर पर रूड़की विधायक श्री प्रदीप बत्रा, रानीपुर विधायक श्री आदेश चौहान, ज्वालापुर विधायक श्री इंजी. रवि बहादुर, हरिद्वार ग्रामीण विधायक सुश्री अमृता सिंह, भाजपा प्रदेश महामंत्री श्री कुलदीप, जिला अध्यक्ष डॉ0 जयपाल सिंह चौहान, जिला महामंत्री श्री विकास तिवारी, मीडिया प्रभारी श्री लव शर्मा, जिलाधिकारी श्री विनय शंकर पाण्डेय, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ0 योगेन्द्र सिंह रावत, मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 सौरभ गहरवार, अपर जिलाधिकारी श्री बीर सिंह बुदियाल, एस0डी0एम0 श्री पूरन सिंह राणा, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 कुमार खगेन्द्र, रेडक्रास सचिव डॉ0 नरेश चौधरी, परियोजना निदेशक ग्राम्य विकास श्री विक्रम सिंह, परियोजना निदेशक नमामि गंगे श्री आर0के0 जैन,सहायक परियोजना निदेशक सुश्री नलनीत घिल्डियाल, मुख्य कृषि अधिकारी श्री विजय देवराड़ी, मुख्य उद्यान अधिकारी श्री नरेन्द्र यादव, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ0 योगेश भारद्वाज, लीड बैंक मैनेजर श्री संजय सन्त, समाज कल्याण अधिकारी श्री टी0आर0 मलेठा, महाप्रबन्धक उद्याग सुश्री पल्लवी गुप्ता सहित सम्बन्धित पदाधिकारीगण एवं अधिकारीगण उपस्थित थे।






Related news