• पुलिस-एडीटीएम-सीआईयू की सयुंक्त टीम ने की कार्रवाई 
  • तस्करों से 200 ग्राम स्मैक बरामद, बरेली से लाकर जा रही थी बेची 
  • सरगना पर पूर्व में 28 मुकदमें, जबकि अन्य पर भी दो-दो मुकदमें  

हरिद्वार: कोतवाली रानीपुर पुलिस, एडीटीएफ और सीआईयू की सयुंक्त टीम ने सूचना पर गुरूवार की शाम को रानीपुर क्षेत्र मे छापा मारकर चार नशे के सौदागरों को गिरफ्तार किया है। जिनके पास से कुल 200 ग्राम स्मैक बरामद की है। जिसकी बाजार में कीमत करीब साढे़ चार से पांच लाख रूपये बतायी जा रही है। नशे के सौदागर सरगाना पर पूर्व में कोतवाली रानीपुर व सिडकुल में शराब व गुण्डा एक्ट के 28 मुकदमें दर्ज हैं। जबकि अन्य के खिलाफ भी कोतवाली रानीपुर व सिड़कुल मे शराब के मुकदमें दर्ज है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ सम्बंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस बात की जानकारी क्षेत्रधिकारी सदर सुश्री निहारिका सेमवाल ने शुक्रवार को कोतवाली रानीपुर परिसर में वार्ता के दौरान पत्रकारों से साक्षा की। उन्होंने बताया कि कोतवाली रानीपुर पुलिस, एडीटीएफ और सीआईयू की संयुक्त टीम ने सूचना पर बीती शाम रॉयल फार्म हाउस वाली गली दादूपुर गोविन्दपुर रानीपुर पर छापा माकर चार नशे के सौदगरों को गिरफ्तार किया है। जिनके पास से टीम ने कुल 200 ग्राम स्मैक बरामद की है। जिनको पकड़ कर कोतवाली लाया गया। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने अपना नाम राजा उर्फ इरफान पुत्र अशरफ निवासी दादूपुर गोविन्दपुर रानीपुर से 110 ग्राम, मुशर्रफ पुत्र रियासत हसन निवासी ग्राम कास्मपुर पथरी हरिद्वार से 50 ग्राम, अश्विनी पुत्र राजकुमार से 20 ग्राम और सचिन पुत्र महिपाल निवासीगण रावली महदूद रानीपुर हरिद्वार से 20 ग्राम बताते हुए खुलासा किया कि वह स्मैक बरेली यूपी से लेकर आये हैं और मोटा मुनाफा कमाने के लिए फुटकर में क्षेत्र बेचने का धंधा करते हैं। सीओ सदर ने बताया कि आरोपियों से बरामद की गयी स्मैक की बाजार में कीमत करीब साढे़ चार से पांच लाख है। आरोपी गिरोह बनाकर अवैध स्मैक के धंधे को संचालित करते हैं। जिनका सरगना राजा उर्फ इरफान है। जिस पर कोतवाली रानीपुर और सिडकुल थाने में पूर्व में 28 मुकदमें शराब व गुण्डा एक्ट के दर्ज हैं। जबकि अश्विनी व सचिन पर दो-दो मुकदमें और मुशर्रफ पर एक मुकदमा दर्ज है। एसएसपी डॉ. योगेन्द्र सिंह रावत की ओर से टीम को ईनाम देने की घोषणा की गयी है। पुलिस ने आरोपियों को मेडिकल के बाद न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया। प्रेस वार्ता के दौरान कोतवाली रानीपुर प्रभारी निरीक्षक अमर चंद शर्मा, एसएसआई अनुरोध व्यास समेत टीम के सदस्य मौजूद रहे।







Related news