जहरीली शराब से जान गंवाने वालों के परिजनों को दिया हरसम्भव मदद का आश्वासन

हरिद्वार (दैनिक हाक:) जिलाधिकारी श्री विनय शंकर पाण्डेय ने मंगलवार को पथरी क्षेत्र के फूलगढ़, शिवगढ, दुर्गागढ़ गांवों का दौरा किया, जहां शराब सेवन करने से विगत दिनों कई लोगों की मृत्यु हो गयी थी।

जिलाधिकारी श्री विनय शंकर पाण्डेय ने दिवंगतों के परिजनों को ढाढस बंधाते हुये कहा कि जो भी घटना हुई, वह काफी दुःखद है तथा शराब का सेवन करने से जिनकी भी मृत्यु हुई, उनकी भरपाई नहीं की जा सकती है, लेकिन अब हमें जो इनके आश्रित हैं, उनके भविष्य के बारे में सोचना है।

जिलाधिकारी ने मौके पर ही अधिकारियों को निर्देश दिये कि शराब का सेवन करने से जिनकी मृत्यु हुई है, उनका मृत्यु प्रमाण पत्र 48 घण्टे के भीतर जारी हो जाना चाहिये, भारत सरकार की स्पांसरशिप योजना के तहत जो नाबालिक बच्चे हैं, उन्हें दो हजार रूपये प्रतिमाह दिलाने की कार्यवाही तुरन्त की जाये। उन्होंने मुख्य शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये कि इनके जो बच्चे प्राइवेट या सहायता प्राप्त स्कूलों में शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं, उनकी आगामी अप्रैल,2023 तक की फीस माफ की जाये।

श्री विनय शंकर पाण्डेय ने मौके पर समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि पारिवारिक लाभ योजना के अन्तर्गत 20 हजार रूपये की आर्थिक सहायता तुरन्त उपलब्ध करायी जाये। उन्होंने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिये कि दिवंगतों के आश्रितों को छह माह का राशन-गेहूं, चावल तथा दाल, कल तक उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाये तथा इनके आश्रितों को विधवा पेंशन एवं किसान पेंशन योजना के तहत पेंशन का लाभ दिया जायेगा। इसके अतिरिक्त मा0 मुख्यमंत्री राहत कोष के लिये भी प्रस्ताव प्रेषित किया जायेगा।

श्री विनय शंकर पाण्डेय ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि इस घटना के पीड़ित परिवारों के जो भी दस्तावेज तैयार किये जाने की औपचारिकतायें पूरी होनी हैं, वे एक ही स्थान-पंचायत घर से पूरी करायी जायें ताकि पीड़ित परिवारों को इन दस्तावेजों के लिये अलग-अलग जगह न जाना पड़े।  

जिलाधिकारी, शराब सेवन करने से दिवंगत हुये, शिवगढ़ गांव के- अमर पाल, विनोद, दुर्गागढ़ के-देवेन्द्र कुमार तथा शिवगढ़ के- इशम पाल, शुकपाल के परिजनों के निवास स्थान पर गये तथा उन्हें सांत्वना देते हुये हर सम्भव मदद करने का आश्वासन दिया।

श्री विनय शंकर पाण्डेय ने गांववासियों से अपील की कि जो भी अवैध शराब के धन्धे में लिप्त है, उसकी सूचना उपलब्ध करायें तथा सूचना देने वाले की पहचान गुप्त रखी जायेगी। उन्होंने यह भी कहा कि अगर कोई गलत सूचना देता है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई भी की जायेगी।

इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रतीक जैन, एसडीएम श्री पूरण सिंह राणा, परियोजना निदेशक श्री विक्रम सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 कुमार खगेन्द्र, जिला प्रोबेशन अधिकारी श्री अविनाश भदौरिया, खण्ड विकास अधिकारी, सहायक समाज कल्याण अधिकारी, खाद्य पूर्ति विभाग सम्बन्धित अधिकारीगण सहित बुजुर्ग, ग्रामीणजन आदि उपस्थित थे। 





Related news