हरिद्वार (दैनिक हाक): कांवड़ यात्रा के अंतिम चरण में रविवार को बाईक सवार लाखों डाक कांवड़िएं गंगाजल लेने हरिद्वार पहुंच गए। हाईवे से लेकर शहर के अंदर कांवड़िएं ही नजर आ रहे हैं। नहर पटरी मार्ग से जहां पैदल कांवड़ियें वापस लौट रहे हैं। वहीं हरिद्वार-दिल्ली हाईवे पर अब पूरी तरह डाक कांवड़ियों का कब्जा हो गया है। प्रशासन ने हाईवे की एक लेन को अब तक वाहनों की आवाजाही के लिए खुला रखा था। कांवड़ यात्रा के अंतिम चरण में पहुंचते ही डाक कांवड़ियों की भारी भीड़ पहुंचने लगी है। निर्धारित समयावधि में गंतव्य तक पहुंचने के बैनर लगाए डीजे लगे ट्रको, ट्रैक्टर ट्रालीयों, छोटा हाथी आदि वाहनों के आगे दौड़ते हजारों डाक कांवड़िए दिन रात हाईवे से वापसी कर रहे हैं तो लगभग समान संख्या में दोपहिया वाहनों पर सवार कांवड़िएं जल लेने के लिए पहुंच रहे हैं। रविवार को भारी संख्या में डाक कांवड़िएं जल लेने पहुंचे। पुलिस प्रशासन द्वारा डाक कांविड़यों के वाहनों को निर्धारित पार्किंग में रोककर जल लेने के लिए पैदल हरकी पैड़ी भेजा जा रहा है। इसके लिए शिवमूर्ति पर लगाए गए बैरियर को भी हटा दिया गया है। कांवड़ियों को ऋषिकुल तिराहे से सीधे रेलवे रोड़ होते हुए हरकी पैड़ी भेजा जा रहा है। 

जलाभिषेक का समय नजदीक आने के साथ ही कांवड़िए तेजी से वापसी कर रहे हैं। सोमवार को अधिकांश पैदल कांवड़िएं वापस लौट जाएंगे। जबकि डाक कांवड़ियों की वापसी जलाभिषेक तक चलती रहेगी। 

कांवड़ियों की सुरक्षित वापसी कराने में पूरा प्रशासनिक अमला व पुलिस के अधिकारी व जवान जुटे हुए हैं। रविवार को जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय ने बाईक पर सवार को मेला क्षेत्र का भ्रमण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया और अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कांवड़ पटरी मार्ग व हाईवे का निरीक्षण कर कांवड़ियों को प्रदान की जा रही सुविधाओं का भी जायजा लिया। गंगा घाटों पर जल पुलिस के साथ स्नान कर रहे कांवड़ियों की सुरक्षा का जायजा लेने से भी जिलाधिकारी पीछे नहीं हट रहे हैं। सड़कों पर मोटरसाईकिल के माध्यम से हाईवे पर चल रहे कांवड़ियों की व्यवस्था का जायजा लेने भी स्वयं उतरे। 



Related news