हरिद्वार (दैनिक हाक): आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं ने विद्युत दरों में 12.5 फीसदी वृद्धि किए जाने के प्रस्ताव का विरोध किया है। प्रस्ताव के विरोध में कार्यकर्ताओं ने प्रदेश उपाध्यक्ष नरेश शर्मा के नेतृत्व में सिटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भी प्रेषित किया। ज्ञापन सौंपने के दौरान आप प्रदेश उपाध्यक्ष नरेश शर्मा ने कहा कि पूरा देश महंगाई की मार झेल रहा है। उद्योग, व्यापार सब चौपट हो गया है। तेल, गैस, सब्जी के दाम आसमान छू रहे हैं। ऐसे में राज्य इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड द्वारा बिजली दरों को 12.5 प्रतिशत बढ़ाना प्रदेश की जनता पर अतिरिक्त बोझ डालने जैसा होगा। उत्तराखण्ड ऊर्जा प्रदेश है। जो कि अन्य राज्यो को बिजली निर्यात करता है। परंतु दुर्भाग्य है कि ऊर्जा प्रदेश में बिजली महंगी है। आम आदमी पार्टी इसका पुरजोर विरोध करती है और राज्य इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड के प्रस्ताव को खारिज करने की माँग करती है। यदि राज्य सरकार इस प्रस्ताव को लागू करेगी तो आम आदमी पार्टी सड़कों पर उतरकर विरोध करेगी। 

पूर्व प्रभारी संजय सैनी में कहा कि बढ़ती महंगाई से आम आदमी का जीना दूभर हो गया है। जनता ने बीजेपी पर भरोसा जताया था। परंतु वर्तमान डबल इंजन की सरकार महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर असफल साबित हुई है। लगातार बढ़ रही महंगाई के दौर में राज्य इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड का बिजली दरों को बढ़ाने का प्रस्ताव किसी भी सूरत में बर्दाश्त नही किया जाएगा। आप नेता अनिल सती ने कहा कि बेतहाशा बढ़ चुकी महंगाई और बढ़ती बेरोजगारी के दौर में गरीब, मध्यम वर्ग किसी तरह परिवार के लिए दो वक्त की रोटी का इंतजाम कर पा रहा है। ऐसे में में बिजली दरों में भारी भरकम बढ़ोतरी प्रदेश के लाखों मध्यम व निचले वर्ग के लोगो के लिए आर्थिक रूप से कमर तोड़ने वाली साबित होगी। इस अवसर पर संजू नारंग, अम्बरीष गिरी, खालिद हसन, नवीन मारया, आशीष गौड़, संजय गौतम, विशाल शर्मा, मयंक गुप्ता, पंकज, वसीम अहमद आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे। 




Related news