हरिद्वार (दैनिक हाक): श्री बीर सिंह बुदियाल, अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व)/जिला खरीद अधिकारी की अध्यक्षता में बृहस्पतिवार को आगामी धान खरीद सत्र 2022-23 के संबंध में एक बैठक आयोजित हुई।

जनपद हरिद्वार में धान खरीद सत्र 2022-23 में विपणन शाखा के 08 कय केन्द्र, यू०सी०सी०एफ0 एवं सहकारी समिति के 11 कय केन्द्र शामिल है तथा एन०सी०सी०एफ0 के केन्द्र प्रस्तावित है। धान खरीद सत्र दिनांक 01अक्टूबर, 2022 से शुरू होनी है।

उप सम्भागीय विपणन अधिकारी हरिद्वार द्वारा अवगत कराया गया कि अभी तक किसानों द्वारा रजिस्ट्रेशन में रूचि नहीं दिखाई है। इस पर अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) ने निर्देशित किया कि गांवों में किसानों को समय से रजिस्ट्रेशन हेतु जागरूक किया जाये ताकि अधिक से अधिक किसान अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकें। उन्होंने कहा कि यह भी संज्ञान में आया है कि कई कृषकों द्वारा फर्जी रजिस्ट्रेशन किये जा रहे है, ऐसे लोगों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाये। समस्त तहसीलदार तथा उप सम्भागीय विपणन अधिकारी, हरिद्वार को भी निर्देशित किया गया कि आपस में समन्वय स्थापित करते हुये किसानों के सत्यापन को त्वरित गति प्रदान करे, ताकि धान खरीद समय से प्रारम्भ हो सकें।

बैठक में उपस्थित अधिकारियों को धान कय केन्द्रों में मूलभूत आवश्यक सामग्री जैसे पेयजल की व्यवस्था, बिजली की व्यवस्था, नमी मापक यंत्र की व्यवस्था तथा अन्य सामग्री, जिसकी आवश्यकता हो, को समय से पूरा कर लिया जाये। विपणन शाखा, हरिद्वार एवं प्रबंधक, यू०सी०एफ, हरिद्वार को यह निर्देशित किया गया कि कय केन्द्रों में धान खरीद प्रारम्भ होने से पूर्व समस्त आवश्यक व्यवस्थायें समय से सुनिश्चित करा ली जाये, जिससे धान विकय करने आए किसानों को परेशानी का सामना न करना पड़े।

उप सम्भागीय विपणन अधिकरी, हरिद्वार को निर्देशित किया गया कि धान विक्रय करने आए किसानों को नियमानुसार जल्द से जल्द भुगतान की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। बैठक में उपस्थित बाट एवं माप निरीक्षक हरिद्वार/ रूड़की को निर्देशित किया गया कि जनपद हरिद्वार में धान खरीद हेतु स्थापित कय केन्द्रों में सत्यापित एवं मुद्रांकित कांटें बाट का ही प्रयोग हो, जिसका समय से सत्यापन की कार्यवाही सुनिश्चित करने हेतु निर्देशित किया गया। उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी कय केन्द्र पर घटतौली की शिकायतें न प्राप्त हो तथा कय केन्द्रों का औचक निरीक्षण भी कर लिया जाए।

बैठक में उप सम्भागीय विपणन अधिकारी हरिद्वार, तहसीलदार- हरिद्वार/रूड़की/ लक्सर/भगवानपुर एवं सहायक निबंधक सहकारी समिति, हरिद्वार तथा प्रबंधक यू०सी०एफ० व केन्द्र प्रभारी उपस्थित हुए।







Related news