सूरत: आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने गुजरात में सत्ता में आने पर प्रति माह 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली देने का वादा किया है।इसी साल दिसंबर में गुजरात में विधानसभा चुनाव होने हैं। दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने सूरत में एक बैठक में बिना किसी कटौती चौबीसों घंटे बिजली आपूर्ति का वादा भी किया। केजरीवाल ने गुजरात में मुफ्त बिजली को एक प्रमुख चुनावी मुद्दा बना दिया है। केजरीवाल ने वादा किया कि 31 दिसंबर 2021 से पहले जारी सभी लंबित बिजली बिल माफ किए जाएंगे। उन्होंने दावा किया कि उनमें से अधिकतर बिजली बिल असल खपत से अधिक हैं और बिजली कंपनियां ऐसे मामलों का निपटारा करने के लिए लोगों को परेशान कर रही हैं।

केजरीवाल ने कहा, ‘‘दिल्ली में बिजली पहले ही मुफ्त है और आम आदमी पार्टी (आप) ने पंजाब में सरकार गठन के तीन महीने के भीतर ही वहां भी बिजली मुफ्त कर दी।'' उन्होंने कहा, ‘‘गुजरात के लोग भी यह राहत चाहते हैं, मैं वादा करता हूं कि अगर आगामी विधानसभा चुनाव में हम सत्ता में आए तो प्रति माह हर परिवार को 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली दी जाएगी।'' आप नेता ने कहा कि वह आज जो वादा कर रहे हैं वह एक गारंटी है....कोई जुमला नहीं जिसका जिक्र अन्य राजनीतिक दल चुनाव से पहले अपने घोषणापत्र में करते हैं। केजरीवाल ने कहा, ‘‘मैं आपको गारंटी दे रहा हूं। अगर आपको कोई कमी दिखे, तो आप अगले चुनाव में ‘आप' को बेझिझक वोट न दें। एक बार राज्य में सत्ता में आने के बाद हम सभी वादे पूरे करेंगे।'' उन्होंने कहा कि 300 यूनिट की खपत के बाद सामान्य दरें लागू होंगी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘बिजली कटौती की जाए, तो मुफ्त बिजली का कोई फायदा नहीं है। मैंने सुना है कि गुजरात के कई गांवों और कस्बों में अब भी बिजली की कटौती हो रही है। इसलिए, मैं वादा करता हूं कि हम बिना किसी कटौती के चौबीसों घंटे बिजली देंगे।'' लंबित बिल पर केजरीवाल ने कहा कि बेहद छोटे मकानों का भी पांच हजार रुपये से अधिक का बिल आ रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘जब लोग शिकायत दर्ज कराते हैं, तो बिजली कंपनी के कर्मचारी मामले को निपटाने के लिए और पैसे मांगते हैं। इसलिए, मेरा तीसरा वादा यही है कि हम 31 दिसंबर, 2021 से पहले जारी किए गए सभी लंबित बिल माफ करेंगे, क्योंकि मुझे पता है कि लंबित बिल में से 70 से 80 प्रतिशत सही नहीं है।'' भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के ‘रेवड़ी कल्चर' वाले बयान पर निशाना साधते हुए केजरीवाल ने कहा कि वह भाजपा ही थी, जिसने पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले 200 यूनिट तक मुफ्त बिजली देने का वादा किया था।



Related news