हरिद्वार (दैनिक हाक): जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय ने बृहस्पतिवार को कांवड़ मेला क्षेत्र का व्यापक भ्रमण किया। सर्वप्रथम मेला अस्पताल होते हुये मनसा देवी हिल बाईपास मार्ग की ओर बढ़ते हुये मनसा देवी पैदल मार्ग के समीप स्थित व्यू प्वाइण्ट पर रूके, जहां से उन्होंने हरकी पैड़ी सहित सम्पूर्ण कांवड़ बाहुल्य क्षेत्र का ऊपर से जायजा लिया। इसके पश्चात जिलाधिकारी मनसा देवी हिल बाईपास के सम्पूर्ण मार्ग का जगह-जगह रूकते हुये मुआयना करते हुये खड़खड़ी पहुंचे। उन्होंने सम्पूर्ण हिल बाईपास मार्ग का मुआयना करने के पश्चात अधिकारियों से कहा कि कांवड़ में भी हिल बाईपास मार्ग का इस्तेमाल करना चाहिये। डीएम इसके बाद आगे बढ़ते हुये खड़खड़ी हिल बाईपास, मोतीचूर हिल बाईपास पार्किंग क्षेत्र, अग्रवाल सेवा सदन, मण्डी गोविन्दगढ़ धर्मशाला, श्री नगलावेला आश्रम, सूखी नदी, श्री जयराम आश्रम नं.-2, वासु ट्रवेल्स, भीमगौड़ा पुल आदि का भ्रमण करते हुये पन्तदीप पहुंचे, जहां उन्होंने पन्तदीप स्थित कांवड़ बाजार में प्रवेश किया तथा विभिन्न आकार-प्रकारों में बने हुये कांवड़ों का बारीकी से अवलोकन किया। उन्होंने वहां उपस्थित कांवड़ बनाने वाले कलाकारों से भी बातचीत की। उन्होंने कांवड़ बनाने वाले कलाकारों से कांवड़ के दाम भी पूछे, जिस पर कालाकारों ने बताया कि 250 रूपये से लेकर एक लाख से अधिक तक के कांवड़ इस बाजार में उपलब्ध हैं। इस मौके पर उन्होंने एक सुन्दर कांवड़ को देखा, जिस पर आकर्षित होकर उन्होंने उसे अपने कन्धे पर उठा लिया। उन्होंने भ्रमण के दौरान कई कांवड़ यात्रियों से उन्हें कोई दिक्कत तो नहीं है, के सम्बन्ध में भी बातचीत भी की। जिलाधिकारी ने पन्त दीप स्थित अस्थाई चिकित्सा शिविर का भी निरीक्षण किया तथा निर्देश दिये कि कांवड़ यात्रियों को आवश्यकतानुसार सभी प्रकार की दवाईयां उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। तत्पश्चात जिलाधिकारी, स्वामी विवेकानन्द पार्क, दीनदयाल पार्किंग तथा रोड़ी बेलवाला आदि का मुआयना करते हुये मेला नियंत्रण भवन (सीसीआर) पहुंचे। मेला नियंत्रण भवन (सीसीआर) में जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. योगेन्द्र सिंह रावत ने अधिकारियों के साथ एक बैठक की। जिसमें ट्रैफिक डायवर्जन प्लान, सुरक्षा व्यवस्था, सफाई व्यवस्था तथा कांवड़ियों को उपलब्ध कराई जाने वाली मूलभूत सुविधाओं के सम्बन्ध में विस्तृत विचार-विमर्श हुआ तथा कई दिशा-निर्देश सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को दिये गये। इस अवसर पर सिटी मजिस्ट्रेट अवधेश कुमार सिंह, स्वतंत्र कुमार सिंह सहित सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।






Related news