हरिद्वार (दैनिक हाक): नहाय खाय के साथ महापर्व छठ शुरू हो गया है। व्रती गंगा में स्नान आदि कर सूर्य पूजा के साथ व्रत की शुरुआत कर रहे हैं। यहां छठ पूजा आयोजन समिति के तत्वावधान में महापर्व मनाया जा रहा है। छठ मैया और सूर्य देव की उपासना का महापर्व नहाय खाय के साथ शुरू हो गया है। पूर्वांचल लोक परंपरा के संरक्षण और संवर्धन के लिए समर्पित छठ पूजा आयोजन समिति के तत्वाधान मे महापर्व मनाया जा रहा है। धर्म नगरी के समस्त घाटों पर पूर्वांचल समाज के लोग आस्था और उल्लास के साथ छठ पर्व मना रहे हैं और लोग गंगा में स्नान कर रहे है। हरिद्वार मे इस पर्व को लेकर साफ सफाई की जा चुकी है। 

बताते चले कि यह पर्व आस्था एवं स्वच्छता का भी पर्व है। इस पर्व मंे नहाने के बाद खाने में कद्दू बनाया जाता है और भात के साथ खाया जाता है। इसका वैज्ञानिक महत्व भी है कि कद्दू जल्दी पच जाता है। इसके पश्चात् खरना पर्व आता है। इस दिन डूबते सूर्य को अर्ध्य दिया जाता है तत्पश्चात अगले दिन उगते सूर्य को अर्ध्य देकर व्रत का समापन करते हैं। शास्त्रांे मंे बताया है कि छठ मैया सूर्य की बहिन है इस लिए छठ मैया को प्रसन्न कर सूर्य की पूजा अर्चना करने से सूर्य भगवान प्रसन्न होते है। इस पर्व की समाप्ति 30 अक्टूबर को होगी। 






Related news