नई दिल्ली: भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि देश के सभी भागों में गर्मी का प्रकोप कम हुआ है और राजस्थान, पंजाब, दिल्ली तथा हरियाणा में अधिकतम तापमान में दो से चार डिग्री सेल्सियस तक और गिरावट आई है। मौसम विभाग ने कहा कि उत्तर पश्चिम, मध्य और पूर्वी भारत के किसी भी हिस्से में अगले पांच दिन तक भीषण गर्मी की संभावना नहीं है। उत्तर पश्चिम भारत और मध्य भारत के अधिकतर हिस्सों में अगले दो से तीन दिन तक अधिकतम तापमान में कोई विशेष बदलाव का पूर्वानुमान नहीं है। इसके बाद पारा स्तर दो से तीन डिग्री सेल्सियस बढ़ सकता है। मौसम विभाग ने कहा कि बुधवार से महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में और शुक्रवार से राजस्थान के कुछ इलाकों में फिर से गर्मी का प्रकोप बढ़ सकता है। पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के कारण पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में अगले दो दिन कहीं-कहीं हल्की बारिश, धूल भरी आंधी और 50 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है। देशभर में अनेक स्थानों पर अप्रैल में सर्वकालिक रूप से तापमान उच्च स्तर पर रहा है और पारे का स्तर 46 से 47 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा। पूर्वी उत्तर प्रदेश के बांदा में शुक्रवार को 47.4 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया, जो अप्रैल का सबसे अधिक तापमान है। मौसम विभाग ने बताया कि इस सप्ताह के अंत तक दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर एक कम दबाव वाला क्षेत्र बनने की संभावना है। विभाग ने बताया कि, उष्णकटिबंधीय मौसम के दृष्टिकोण से चार मई के आसपास दक्षिण अंडमान सागर और इसके आसपास के क्षेत्रों में चक्रवात आने की संभावना है। इसके प्रभाव में, छह मई के आसपास क्षेत्र में एक कम दबाव वाला क्षेत्र बन सकता है। मौसम विभाग ने बताया कि अगले 120 घंटों के दौरान उच्च स्तर का चक्रवात आने की संभावना है। हालांकि, मौसम कार्यालय ने कम दबाव वाले क्षेत्र पर कोई पूर्वानुमान लगाने से इनकार किया। विभाग ने कहा, बाद के 24 घंटों के दौरान यह अधिक तीव्र हो सकता है। चार मई के लिए मछुआरों को दी अपनी चेतावनी में, विभाग ने कहा कि दक्षिण अंडमान सागर और उससे सटे दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी में तेज हवाएं चलने की संभावना है। मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, दिल्ली में बुधवार को न्यूनतम और अधिकतम तापमान के क्रमश: 27 डिग्री सेल्सियस और 40 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। एक अधिकारी ने सोमवार को बताया, ''चार और पांच मई को एक और पश्चिमी विक्षोभ का पूर्वानुमान है। शहर में कम से कम दो से तीन दिनों तक लू चलने की संभावना नहीं है।'' तापमान के छह मई तक 40 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है।






Related news