कोलकाता: दो साल बाद रविवार को भारत और बांग्लादेश के बीच यात्री ट्रेन सेवाएं ‘मैत्री एक्सप्रेस' और ‘बंधन एक्सप्रेस' फिर से शुरू हो गयी। कोरोना वायरस फैलने के कारण ये सेवाएं रोक दी गयी थीं। बांग्लादेश रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि ढाका और कोलकाता के बीच मैत्री एक्सप्रेस ट्रेन सेवा ढाका छावनी रेलवे स्टेशन से रविवार को बहाल हुई। बांग्लादेश रेलवे के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘‘ट्रेन ढाका छावनी रेलवे स्टेशन से 165 यात्रियों के साथ कोलकाता के लिए रवाना हुई।।।यह सोमवार को वापसी करेगी और ढाका पहुंचेगी। ''

उन्होंने बताया कि ट्रेन से यात्रा की संभावित अवधि आठ घंटों की है। बांग्लादेश रेलवे के महानिदेशक धीरेंद्र नाथ मजूमदार ने कहा कि अब से ट्रेन एक सप्ताह में पांच दिन चलेगी। हालांकि कोविड-19 महामारी पूरी तरह खत्म न होने के कारण पहले दिन उम्मीद के अनुरूप यात्री नहीं आए। बीआर अधिकारियों ने बताया कि 465 सीट वाली ट्रेन का इस्तेमाल औसतन करीब 300 यात्रियों को लाने में किया जाता है। 

इस बीच, एक अन्य ट्रेन सेवा ‘बंधन एक्सप्रेस' दो साल बाद फिर से बांग्लादेश पहुंची। यह ट्रेन बांग्लादेश के दक्षिण-पश्चिम में स्थित खुलना और कोलकाता मार्ग के बीच चलती है। बंधन एक्सप्रेस एक सप्ताह में दो दिन चलती है। ये ट्रेन सेवाएं ऐसे समय में बहाल की गयी हैं जब पश्चिमी बंगाल के उत्तरी न्यू जलपाईगुड़ी और ढाका के बीच एक जून से मिताली एक्सप्रेस चलने की संभावना है। एक पर्यटक ट्रेन के तौर पर इसके बांग्लादेश से दार्जलिंग पहाड़ियों और डूअर्स वन तथा चाय बागानों तक पहुंचने की उम्मीद है। 



Related news