जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए बुधवार को कहा कि उसे राजस्थान में शांति हजम नहीं हो रही है इसलिए वह कांग्रेस और राज्य सरकार को बदनाम करने के षड्यंत्र में लगी है। इसके साथ ही गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार हिंसा के मामले में कोई समझौता नहीं करेगी और किसी भी कीमत पर दंगा नहीं होने दिया जाएगा।


कांग्रेस के चिंतन शिविर की तैयारियों के लिए उदयपुर पहुंचे गहलोत ने करौली के बाद जोधपुर की घटना की ओर इशारा करते हुए भाजपा पर निशाना साधा।


उन्होंने कहा,‘‘ भाजपा घबराई हुई है, भाजपा का अभी पूरे मुल्क में निशाना कोई है तो राजस्थान है, इसलिए आप देख रहे हो कि दंगे भड़क रहे हैं,जब भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा सवाई माधोपुर में आए थे तब भी मैंने कहा था कि ये आग लगाने आए हैं। आग लग गई करौली में।’’


जोधपुर में मंगलवार को हुए उपद्रव का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘ जोधपुर में जो कुछ हुआ, कोई ऐसा मुद्दा नहीं था कि दंगा भड़कने की स्थिति आए। हम लोगों ने करौली में,राजगढ़ में, जोधपुर में, कहीं दंगा होने नहीं दिया और इसलिए कोई जनहानि नहीं हुई, कोई बड़ी घटना नहीं हुई, हादसा नहीं हुआ।’’


मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ रामनवमी को राजस्थान में शांति रही जबकि देश के सात राज्यों में दंगे भड़के ...बुलडोजर चले, वहां पर गरीबों पर, क्या-क्या नहीं हुआ है? यहां शांति रही, शांति इनको हजम नहीं हो रही है.....।’’


उन्होंने कहा कि राज्य सरकार हिंसा की घटनाओं के मामले में कोई समझौता नहीं करेगी और किसी भी कीमत पर दंगा नहीं होने देगी।


उल्लेखनीय है कि ईद पर उपद्रव के बाद मुख्यमंत्री के गृहनगर जोधपुर में मंगलवार को कर्फ्यू लगा दिया गया। गहलोत ने कहा कि जोधपुर में अब शांति है और सद्भावना के प्रयास किए जा रहे हैं।



Related news