लखनऊ: आजम खान और अखिलेश यादव के बीच जो दूरी सीतापुर, रामपुर से लेकर लखनऊ तक कायम रही वह दिल्ली में खत्म होती दिख रही है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल में जाकर आजम खान से मुलाकात की है। दोनों नेताओं के बीच लंबे समय तक बातचीत हुई। आजम खान पिछले चार दिनों से अस्पताल में भर्ती हैं। यह मुलाकात ऐसे समय में हो रही है जब आजम खान के गढ़ में लोकसभा का उपचुनाव होने जा रहा है। आजम खान ने विधानसभा चुनाव जीतने के बाद लोकसभा सीट छोड़ी है। 2 साल से अधिक समय तक सीतापुर जेल में बंद रहे आजम खान सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से नाराज बताए जा रहे हैं। आजम खान के करीबियों ने अखिलेश पर आरोप लगाया था कि बुरे वक्त में उन्होंने साथ नहीं निभाया। आजम खान को पिछले महीने जमानत मिली तो उन्होंने खुलकर भले ही कुछ नहीं कहा, लेकिन इशारों में अखिलेश से मुलायम तक पर निशाना साधते रहे। आजम और अखिलेश के बीच दूरी की अटकलों को उस वक्त और बल मिला जब आजम खान की लखनऊ में मौजूदगी के बावजूद दोनों नेताओं के बीच मुलाकात नहीं हुई। माना जा रहा है कि दोनों नेताओं को साथ लाने में वरिष्ठ वकील और कांग्रेस के पूर्व नेता कपिल सिब्बल ने अहम भूमिका निभाई है। कपिल सिब्बल ने ही आजम खान की दलीलों को सुप्रीम कोर्ट में जोरदार तरीके से रखते हुए उन्हें जमानत पाने में सफलता दिलाई है। इसके बाद अखिलेश यादव ने उन्हें सपा के समर्थन से राज्यसभा जाने का रास्ता साफ कर दिया। बताया जा रहा है कि कपिल सिब्बल ने आजम और अखिलेश से बात करके दोनों नेताओं के बीच बने मतभेद को काफी हद तक कम किया है। इसके बाद ही दोनों नेता मिलने को सहमत हुए। इस मुलाकात को रामपुर लोकसभा उपचुनाव को लेकर भी अहम माना जा रहा है।



Related news