नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह को ‘जेड' श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की है। सुरक्षा देने का निर्णय बढ़ते खतरे की आशंका को देखते हुए लिया गया। एक अधिकारी ने कहा, “अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह को जेड श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गई है। सीआरपीएफ के कमांडो उनकी सुरक्षा का जिम्मा संभालेंगे। ” अकाल तख्त सिखों की सर्वोच्च संस्था है और जत्थेदार इसके प्रमुख होते हैं। 

अकाल तख्त जत्थेदार उन 400 से अधिक लोगों में से एक थे जिनकी सुरक्षा पंजाब में नवगठित आप सरकार द्वारा वापस ले ली गई थी। हालांकि बाद में उनकी सुरक्षा बहाल कर दी गई, लेकिन जत्थेदार ने फिर से राज्य सरकार की सुरक्षा लेने से इनकार कर दिया। एक अन्य अधिकारी ने कहा कि उन्हें अब केंद्र सरकार के सीआरपीएफ कमांडो की सुरक्षा प्रदान की गई है। 

‘जेड' श्रेणी की सुरक्षा के तहत 16 से 20 सशस्त्र कमांडो पालियों में व्यक्ति के साथ 24 घंटे सुरक्षा में तैनात रहते हैं। जब वह सड़क मार्ग से यात्रा करेंगे तो उन्हें एक एस्कॉर्ट और एक पायलट वाहन भी उपलब्ध कराया जाएगा। 



Related news