नई दिल्ली: आईएमडी ने रविवार को कहा कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर गहरे दबाव का क्षेत्र चक्रवात ‘असानी’ में बदल चुका है और अगले 24 घंटे में यह और तीव्र होगा। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि यह चक्रवात रविवार शाम तक अपना असर दिखाएगा। इसके उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और 24 घंटे के अंदर पूर्व-मध्य में भीषण चक्रवाती तूफान में बदलने की संभावना है। अनुमान है कि चक्रवात असानी की वजह से बिहार के कुछ हिस्सों में बारिश हो सकती है।

 आईएमडी के वरिष्ठ वैज्ञानिक उमाशंकर दास ने बताया कि, चक्रवात ‘असानी’ उत्तर-पश्चिम दिशा में 16 किमी प्रति घंटे की गति से आगे बढ़ रहा है। यह विशाखापत्तनम से दक्षिण-पूर्व दिशा में 970 किमी और पुरी से दक्षिण-पूर्व दिशा में 1020 किमी की दूरी पर है। उन्होंने कहा, यह 10 मई की शाम तक उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ेगा और ओडिशा तट के समानांतर आगे बढ़ेगा। उमाशंकर दास ने बताया कि यह चक्रवाती तूफान 10 मई तक उत्तरी आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटों तक पहुंच सकता है। इसी दिन शाम से इन राज्यों में बारिश शुरू होगी। ओडिशा के तीन जिलों गजपति, गंजम और पुरी में बारिश के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। वहीं 11 मई को ओडिशा के पांच जिलों में भारी बारिश की संभावना है। भारतीय मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों तक मछुआरों को समुद्र में नहीं उतरने का अलर्ट जारी किया है। ओडिशा तट के पास समुद्र की स्थिति 9 मई व 10 मई को खराब रहेगी। वहीं दूसरी और उत्तर और मध्य भारत के राज्यों में गर्मी का प्रकोप जारी रहने का पूर्वानुमान है। मौसम विभाग के मुताबिक महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र में 8 से 12 मई के बीच हीटवेव की स्थिति रहेगी। इसी तरह, पश्चिमी राजस्थान में 8 से 12, दक्षिणी हरियाणा और पूर्वी राजस्थान में 9 से 12, पश्चिमी मध्य प्रदेश में 8 से 9, दक्षिणी पंजाब और जम्मू डिवीजन में 10 से 12 मई तक हीटवेव की स्थिति बनी रहेगी। उत्तर प्रदेश और दिल्ली में भी अगले कुछ दिनों तक गर्मी से राहत की कोई उम्मीद नहीं है। 





Related news