यरुशलम: एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि नई दिल्ली स्थित इजरायली दूतावास को हाई अलर्ट पर रखा गया है। हाल के हफ्तों में यहां आतंकवादी हमले का खतरा मंडरा है जिसे ईरान समर्थित हमलावरों द्वारा अंजाम दिया जा सकता है। एक मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। येरुशलम में एक राजनयिक सूत्र ने इन दावों का सच बताया। 

पिछले साल नई दिल्ली में इजरायली दूतावास के बाहर एक ब्लास्ट हुआ था, जिसमें कई कारें क्षतिग्रस्त हो गई थीं लेकिन कोई हताहत नहीं हुआ था। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार एक राजनयिक सूत्र ने बताया कि इजरायली दूतावास की सुरक्षा किसी तरह के सुरक्षा अलर्ट के चलते नहीं बढ़ाई गई थी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इजरायली दूतावास पर ईरानी हमले के खतरे के चलते भारतीय पुलिस और इजरायली सुरक्षा बलों ने दूतावास के चारों तरफ सुरक्षा बढ़ा दी है। दूतावास के आसपास की सड़कों को बंद कर दिया है, चौबीसों घंटे कड़ा पहरा दिया जा रहा और सीसीटीवी के जरिए निगरानी की जा रही है। फारसी-भाषा के एक टीवी चैनल ने इस सुरक्षा अलर्ट को 'गंभीर' करार दिया और एक अज्ञात इजरायली सूत्र के हवाले से कहा कि नई दिल्ली में स्थित इजरायल का दूतावास ईरान समर्थित मिलिशिया के लिए कई संभावित टारगेट्स में से एक बन गया है। इजरायल के राजनयिक सूत्र ने कहा कि दूतावास को अलर्ट पर नहीं रखा गया है। मीडिया रिपोर्ट एक सुरक्षा ड्रिल का ब्यौरा देती प्रतीत हो रही है, जो साल की शुरुआत में हुई थी।

29 जनवरी 2021 को दिल्ली के लुटियंस जोन इलाके में स्थित इजरायली दूतावास के बाहर आईईडी विस्फोट हुआ था। मौके से कुछ बॉल-बेयरिंग मिले थे, जिनका इस्तेमाल बम बनाने में किया गया था। दिल्ली पुलिस को घटनास्थल के पास से मिले लिफाफे में एक चिट्ठी भी मिली थी जिसमें इजरायल के राजदूत को संबोधित किया गया था। सूत्रों के मुताबिक, उस चिट्ठी में लिखा था कि ये तो बस ट्रेलर है।






Related news